लॉकडाउन में पत्रकारिता की आड़ में कर रहे थे तस्करी! शराब, नशीली दवा और 3 बंदूक के साथ 2 हुए गिरफ्तार

कोरोना वायरस से लड़ने लागू की गई लॉकडाउन गरीबों के लिए आफत बना हुआ है तो वहीं कई लोगों के लिए कालाबाजारी का उत्तम समय। इस समय शराब की अवैध तस्करी जोरों पर है। ऐसे में कुछ लोग पत्रकारिता का सहारा लेकर तस्करी की इस गोरखधंधा में उतर गए है। ऐसे ही दो लोग पुलिस के हत्थे चढ़ें है, जिसमें से एक युवक अपने आप को पत्रकार बताकर नशीली दवाओं और शराब की तस्करी कर रहा था। मामला रायपुर के राजीव नगर इलाके का है। खम्हारडीह पुलिस ने आरोपी जतिन्द्र आकाश सिंह और मयंक अग्रवाल को गिरफ्तार किया है। दोनों राजीव नगर थाना खम्हारडीह का रहने वाले है।
पुलिस से मिली जानकरी के अनुसार इनके पास से 2 पेटी अंग्रेजी शराब, अल्प्राजोलम टेबलेट 70 स्ट्रीप (प्रत्येक स्ट्रीप में 75 नग टेबलेट) तथा 42 नग कोडिन सिरप जब्त किया है। इसके साथ ही एक देसी कट्टा और दो बंदूक भी बरामद किया है। एक और अन्य आरोपी असीम से भी पूछताछ की जा रही है। गिरफ्तार आरोपी जतिन्द्र आकाश सिंह अपने आप को प्रॉम्प्ट टाइम्स नाम के मासिक पत्रिका का पत्रकार बताकर खुले आम शहर में घूम रहा था। 
पत्रकार होने का फायदा उठाकर यह अवैध तस्करी के धंधे में उतर गया। हालांकि अभी यह स्पष्ट नहीं हो सका है कि जतिन पत्रकार है या नहीं ? पुलिस प्रॉम्प्ट टाइम्स के संस्थान से इसका पता लगा रही है। दोनों आरोपी कोरोना की वजह से किए गए लॉकडाउन का फायदा उठाकर शराब मंहगे दाम में शराब की बिक्री करते रंगे हाथों पकड़े गए है। पुलिस ने आरोपी जतिन आकाश सिंह के ठिकाने पर दबिश देकर 1 पिस्टल, 1 रिवाल्वर, 8 जिंदा कारतूस, 4 धारदार चाकू, अल्प्राजोलम टेबलेट 70 स्ट्रीप (प्रत्येक स्ट्रीप में 75 नग टेबलेट)और 42 कोडिन सिरप जब्त किया है। 
वहीं आरोपी मयंक अग्रवाल से पास से 40 बाॅटल बीयर,03 बाॅटल अंग्रेजी शराब, 1 धारदार चाकू, 1 पिस्टल और 1 कार जब्त किया है। मयंक अग्रवाल रोबो रेस्टो का मालिक है। खम्हारडीह पुलिस ने दोनों के खिलाफ धारा 34(2) आबकारी एक्ट और 25 आम्स एक्ट का मामला दर्ज किया है। आरोपी जतिन्द्र आकाश सिंह के संबंध में राष्ट्रीय मासिक पत्रिका प्राॅम्प्ट टाइम्स पत्रिका से भी जानकारी प्राप्त की जा रही है। फिलहाल पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है।