पंजाब में बड़ा कोरोना संकट, महाराष्ट्र से लौटे 3500 श्रद्धालुओं में से 9 लोग पाए गए पॉजिटिव

जानलेवा कोरोना वायरस को लेकर पंजाब में बड़ा संकट पैदा हो गया है. महाराष्ट्र के नांदेड़ साहिब गुरुद्वारा से लौटे 3500 श्रद्धालुओं में से 9 लोगों का कोरोना वायरस टेस्ट पॉजिटिव पाया गया है. इन पॉजिटिव लोगों में 6 तरनतारन जिले के और तीन कपूरथला जिले के हैं. तरनतारन ग्रीन जोन में था, लेकिन नए मरीजों के मिलने के बाद ग्रीन जोन से बाहर हो गया है.
दरअसल कल तरनतारन और मोहाली में बसों से श्रद्धालु आए थे. इन्हीं श्रद्धालुओँ में से नौ पॉजिटिव निकले हैं. तरनतारन के डिप्टी कमिश्नर ने भी इसकी पुष्टि की है. डिप्टी कमिश्नर ने बताया कि 6 में से 5 कोरोना पॉजिटिव लोग तरनतारन के गांव सुर सिंह से हैं. अब जिला प्रशासन ने गांव सुर सिंह को पूरी तरह से सील कर दिया है और इन श्रद्धालुओं के परिजनों को भी एकांतवास में रखकर उनकी सेहत जांच के लिए सैंपल ले लिए गए हैं.

3500 से ज़्यादा सिख श्रद्धालू कोरोना वायरस के बाद लागू लॉकडाउन के कारण महाराष्ट्र के तख़्त हुज़ूर साहिब में फंस गए थे. तमाम कोशिशों के बाद पंजाब सरकार को इनको वापस लाने में एक महीना लगा. पंजाब से 90 बसें श्रद्धालुओं को लाने के लिए भेजी गईं थी. वापस पहुंच रहे सभी द्धालुओं को क्वारंटाइन करके कोविड सैम्प्लिंग करने के आदेश जारी किए हैं. 

लेकिन शुरुआती केस देखकर सरकार के होश उड़े हुए हैं. गौरतलब है कि पंजाब का जिला तरनतारन अब तक एक भी करोना वायरस पॉजिटिव मरीज ना होने के कारण ग्रीन जोन में चला आ रहा था, लेकिन महाराष्ट्र से आए श्रद्धालुओं में से एक साथ 6 मरीजों के क्रोना पॉजिटिव आने से अब जिला निवासियों में भय का माहौल पैदा हो गया है.