सावधान! दूसरे गांव के लोग यदि घुसे तो लगेगा 500 रुपए का जुर्माना, पोस्टर लगाकर पंचायत ने जारी किया फरमान

कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए शहर सहित ग्रामीण क्षेत्र के लोगों ने भी कमर कस ली है। पीएम के 14 अप्रैल तक के लॉकडाउन का पालन हर कोई करता दिख रहा है। जो इसका पालन नहीं कर रहा है, उससे प्रशासन व पुलिस सख्ती बरत रही हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में लॉकडाउन को लेकर सभी गंभीर हैं। कई ग्राम पंचायतों द्वारा आदेश जारी कर गांव में घुसने वाले रास्तों पर बेरिकेटिंग कर दी गई है। उनके द्वारा पोस्टर लगाकर जुर्माने की राशि भी निर्धारित की गई है। बलरामपुर के एक पंचायत ने तो जुर्माने के अलावा बकायदा पिटाई सेवा का भी बैनर लगाया था।
ऐसा ही कुछ नजारा लखनपुर ब्लॉक के ग्राम पंचायत मुकुंदपुर की ओर से भी देखने को आया है। यहां की सरपंच सीमा सिंह ने पहले पंचों व ग्रामीणों की बैठक ली और कोरोना से लडऩे सबको जागरुक किया। उन्होंने बताया कि कैसे अपने-अपने घर पर ही रहकर इस महामारी से लड़ा जा सकता है। उन्होंने पीएम मोदी के लॉकडाउन का भी सभी को पालन करने कहा। बैठक में यह भी प्रस्ताव रखा गया कि गांव के रास्ते पर बेरिकेटिंग किया जाए ताकि कोई दूसरे गांव का व्यक्ति यहां प्रवेश न कर सके।

वहीं 500 रुपए जुर्माने का भी प्रावधान किया गया। इसी कड़ी में ग्रामीणों ने गांव के मुख्य मार्ग पर बेरिकेटिंग कर पोस्टर लगा दिया। पोस्टर में लिखा गया कि ‘बाहर के लोग प्रवेश न करे, नहीं तो 500 रुपए जुर्माना लगेगा।’ सरगुजा संभाग के कई पंचायतों ने कर रखी है बेरिकेटिंग गौरतलब है कि कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए किए गए लॉकडाउन का पालन सरगुजा संभाग के कई पंचायतों द्वारा किया जा रहा है। वे बेरिकेटिंग लगाकर दूसरे गांव वालों के लिए फरमान लिख रहे हैं कि न तो इस गांव में कोई प्रवेश करे और न यहां को कोई व्यक्ति दूसरे गांव जाए। वे खुद भी इसका पालन कर रहे हैं और दूसरों को भी पालन करने कह रहे हैं।