लॉकडाउन में धधक रही हैं भट्टियां, 50 रुपये लीटर दूध की तरह खुलेआम बेची जा रही ये समान!

लॉकडाउन में भी मेरठ के खादर इलाके में पुलिस की साठगांठ से धड़ल्ले से भट्टियां धधक रही हैं। जहां पर जहरीली शराब तैयार हो रही है। जहरीली शराब बेचने का एक वीडियो रविवार को वायरल हुआ। जिसके बाद से पुलिस और प्रशासन में खलबली मच गई है। हालांकि वीडियो वायरल होने के बाद सोमवार को पुलिस ने अवैध शराब बेचने के आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। लेकिन इस वीडियो से साफ जाहिर है कि जहरीली शराब बेचने वाले युवक को कानून का कोई खौफ नहीं है। 
यह वीडियो परीक्षितगढ़ थाना क्षेत्र के बागो गांव का बताया है। जहरीली शराब बेचने वाला युवक दो ड्रम लेकर बैठा हुआ है। जिसमें वो एक-एक लोटा भरकर पॉलिथीन के पैकेट बनाकर दे रहा है। इस जहरीली शराब को लेने के लिए लोगों की लंबी लाइन लगी है। शराब बेचने वाला युवक बार-बार लोगों से कह रहा है कि वह अपने घरों से बर्तन लेकर आएं। क्योंकि पॉलिथीन बहुत कम बची हैं। किला परीक्षितगढ़ मवाना में अन्य जगहों से भी पॉलिथीन लॉकडाउन होने के चलते नहीं मिल रही हैं। युवक शराब बेचते समय बार-बार लोगों से कह रहा है कि शराब की कोई कमी नहीं है, घबराने की जरूरत नहीं है।

अब सवाल सरकारी मशीनरी पर उठता है कि आखिरकार खादर इलाके में लगातार शराब की भट्टियां किसके आदेश पर चल रही हैं और लोगों को जहरीली शराब कैसे बांटी जा रही है। इसको लेकर आसपास के लोगों में भी पुलिस के प्रति गुस्सा है। सवाल उठता है कि एक तरफ कोरोना वायरस से लोगों को बचाने के लिए प्रधानमंत्री ने 21 दिन का लॉकडाउन किया हुआ है। वहीं, शराब, तम्बाकू, बीड़ी और सिगरेट जैसी सामग्रियों पर भी रोक लगाई हुई है। ऐसे हालात में जहरीले शराब को कोई भला कैसे बेच सकता है।
बताया जा रहा है कि खादर इलाके में शराब बनाने और फिर बेचने के लिए पुलिस के साथ पहले से ही सेटिंग है। पुलिस सूत्रों की मानें तो एक सिपाही उक्त युवक से मोटा पैसा लेता है, जोकि पुलिस में बंटता है। वीडियो बनाने वाले का दावा है कि यह वीडियो शुक्रवार को बनाया गया है। जिसको उसने पुलिस के अधिकारियों तक भी पहुंचाया है। ताकि जहरीली शराब बेचने वाले के खिलाफ पुलिस के अधिकारी कड़ी कार्रवाई करें और देहात में हजारों की संख्या में लोगों को बचाएं।