शिकायत मिली की लॉकडाउन में 5 दिनों से भूखे हैं, लेकिन जब घर गए तो वहाँ बन रहा था हलुआ!

मिली शिकायत पर प्रशासन शिकायत कर्ता के घर पहुंचा तो हलुआ बन रहा था। वार्ड 27 निवासी फारूक ने पोर्टल पर शिकायत कि उसके पास राशन खरीदने के लिए पैसा नहीं है। उसके पास खाद्य सामग्री नहीं है। उसके घर में सात सदस्य है। जो पांच दिनों से भूखे है। इसके बाद प्रशासन शिकायतकर्ता के घर पहुंचा तो वहां हलुआ बन रहा था। 
घर में बढिया फर्नीचर, फ्रीज, बाइक, साइकिल आदि सुविधा थी तथा घर में राशन भी पड़ा था। इस संबंध में तहसीलदार सुशील सैनी ने बताया कि जब से शहर में कफ्र्यू लगा हुआ है। तब से जरूरतमंद को राशन सामग्री पहुंचाने के लिए दो टीमों का गठन किया गया। एक टीम वास्तविक स्थिति का पता लगाती है तथा दूसरी टीम पीडि़त के घर में राशन पहुंचाती है। 

कुछ लोग ऐसे भी है जो प्रशासन को अनावश्यक परेशान कर रहे है। वार्ड 27 के एक जने ने पोर्टल पर शिकायत की कि पांच दिनों से भूखे है। टीम कई तो वहां अच्छा मकान था। घर में हलुआ बन रहा था। लोगों को अनावश्यक शिकायत नहीं करनी चाहिए। वास्तविक लोगों को ही राशन की मांग करनी चाहिए।