लॉकडाउन में अनोखी शादी, "दिल्ली के युवक ने दुल्हन के साथ चौराहे के लिए 7 फेरे"

कोरोना वायरस (Corona virus) के चलते पूरे देश में लॉकडाउन (Lockdown) है. देश की सारी यातायात सुविधाएं बंद हैं. लोगों को घर से बाहर निकलने पर मनाही है. इसका असर शादी समारोह पर भी पड़ रहा है. उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में एक ऐसा ही मामला सामने आया है. यहां एक युवक ने अनोखे तरीके से शादी की है. इस शादी में न तो पंडित थे और न ही वेदी थी. दूल्हे ने यूं ही दुल्हन के साथ सड़क पर स्थित एक चौक का परिक्रमा कर शादी कर ली. अब इस शादी की चर्चा पूरे शहर में हो रही है.
जानकारी के मुताबिक, दूल्हा शादी के लिए दिल्ली से मुजफ्फरनगर आया था. उसने आनंदपुरी की प्रीति के साथ बिना पंडित और वेदी के शिवचौक के सात फेरे ले लिए. शादी करने के बाद दूल्हा और दुल्हन को सेनेटाइज चैंबर से होकर गुजरना पड़ा. इसके बाद दोनों दिल्ली के लिए रवाना हो गए.

हिन्दुस्तान के मुताबिक, दिल्ली निवासी दूल्हा का नाम कुलदीप सोलंकी है. उसकी शादी की तिथि 17 अप्रैल को काफी समय पहले ही तय हो चुकी थी. लॉकडाउन होने की वजह से दोनों की शादी में समस्या आ रही थी. ऐसे में दूल्हे ने दिल्ली प्रशासन से शादी करने की परमिशन ली और 6 लोगों के साथ अलग-अलग दो गाड़ियों में बैठकर मुजफ्फरनगर के लिए रवाना हो गया. गुरुवार को शादी की रस्में अदा करने के बाद रात को ही दूल्हा अपनी दुल्हन को लेकर शहर के शिवचौक पहुंच गया.

सजी-धजी दुल्हन व दूल्हे को शिवचौक पर देखते ही वहां मौजूद पुलिस अलर्ट हो गई. दुल्हन के साथ दूल्हे ने भगवान आशुतोष की सात बार परिक्रमा कर शादी की. उसके बाद में नवविवाहित जोड़ा सेनेटाइज चैंबर से होकर गुजरा. बारात में आए अन्य 5 लोग भी चैंबर से सेनेटाइज होकर बाहर निकले. दूल्हे ने जनपद पुलिस को बताया कि वह दिल्ली पुलिस से अनुमति लेकर मुजफ्फरनगर पहुंचा है. फिर, वह दुल्हन को लेकर वापस दिल्ली के लिए रवाना हो गया.