पूजन पर गांव आए हुए थे दंपती, पत्नी ने शहर जल्दी जाने की जिद की तो पति ने कर दी उसकी हत्‍या!

अष्टमी पर पूजन करने के लिए पति-पत्नी और बेटा गांव पहुंचे थे, पति कुछ दिन अपने माता-पिता के यहां रूकना चाहता था पर पत्नी जिद करने लगी कि शहर अपने घर चलो। इस पर पति-पत्नी में हुई नोक-झोंक से बात इतनी बढ़ गई कि गुस्साए पति ने पास में ही पड़े पलंग के पाये को सिर पर दे मारा, जिससे पत्नी का सिर फट गया और उसकी मौके पर ही मौत हो गई।
घटना गाडरवारा थानांतर्गत ग्राम बेलखेड़ी की है। करीब साढ़े 11 बजे बेलखेड़ी निवासी गुंटू नौरिया पिता हक्कू नौरिया 50 वर्ष जो खेत में कार्य कर रहा था, उसके पास 5 वर्षीय आकाश दौड़कर आया और बताया कि दादाजी पिताजी ने मां को मारा है, जब दादा घर पहुंचे तो पाया कि उसकी बहू रिंकी नौरिया खून से लथपथ पड़ी है, उसकी मौत हो चुकी है। एसडीओपी एसआर यादव के मुताबिक गुंटू नौरिया आत्मज हक्कू नौरिया 50 वर्ष का एक बेटा ओमप्रकाश नौरिया 35 वर्ष जगदीश वार्ड गाडरवारा में रहता है।

अष्टमी पर पूजन करने के लिए वह अपनी पत्नी रिंकी नौरिया, बेटा आकाश 5 वर्ष को लेकर ग्राम बेलखेड़ी आया था। शुक्रवार को तीन दिन हो गए थे। शुक्रवार को ही लगभग साढ़े 11 बजे जब ओमप्रकाश, उसकी पत्नी रिंकी और छोटा लड़का आकाश घर पर था तो रिंकी अपने पति ओमप्रकाश से गाडरवारा जाने की जिद करने लगी। इस पर दोनों के बीच विवाद होने लगा। गुस्से में आए ओमप्रकाश ने घर पर ही रखे पलंग के पाए को उठाकर रिंकी के सिर पर दे मारा, जिससे रिंकी जमीन पर गिर गई। इसके बाद गुस्साए पति ने उस पाए से दो-तीन बार और प्रहार किए, जिससे उसकी मौत हो गई।

घटना के बाद मृतिका रिंकी का बेटा आकाश 5 वर्ष घटना बताने के लिए अपने दादा गुंटू नौरिया, दादी रानी नौरिया को बताने खेत पहुंचा। घटना बताई तब दोनों घर पर पहुंचे तो पाया कि उनकी बहू रिंकी की मौत हो चुकी है। उन्होंने सरपंच और ग्राम कोटवार शिवप्रसाद को सूचना दी, जिनकी माध्यम से पुलिस को पता चला। मौके पर पहुंची पुलिस ने पंचनामा समेत अन्य कार्रवाई की। घटना के बाद ओमप्रकाश की पुलिस तलाश कर रही है।
Loading...