लॉकडाउन में ये नारियल तोड़ने वाला मजदूर ऐसे कर रहा है पुलिसवालों की मदद...

पूरा भारत लॉकडाउन है। सबकुछ थम गया है लेकिन बीते दिनों एक ऐसी सच्ची कहानी सामने आई है जो इस मुश्किल दौर में भी कोरोना वॉरियर्स की मदद करने आगे आए केरल के गिरेश की है। वो नारियल तोड़ने वाले मजदूर हैं। लेकिन लॉकडाउन में पुलिसवालों की मदद कर रहे हैं।
बताते चलें की गिरेश कलावूर के रहने वाले हैं। वो अपनी कमाई से पुलिसकर्मियों को पानी और खाना दे रहे हैं। वो बताते हैं, ‘मैं अपनी कमाई के कुछ हिस्से से पुलिसकर्मियों की मदद कर रहा हूं। मैं बहुत ज्यादा तो नहीं कमाता। मैं उन्हें बस केला और सोडे की बोतल ही देता हूं।’
कलावूर के इस्पेक्टर टालसन जोसेफ ने गिरेश की सराहना की। उन्होंने कहा, ‘मैं रोज इस शख्स को मोटरसाइकिल पर जाते देखता था। जब मैंने इंक्वायरी की तो मुझे पता चला कि ये तो पुलिसकर्मियों को पानी और स्नैक्स देता है।’ गिरेश अपनी बाइक से सामान लेकर जाते हैं, और ड्यूटी कर रहे पुलिसकर्मियों को खाने-पीने का सामान देते हैं।
रिपोर्ट के मुताबिक, गिरेश नारियल तोड़ने का काम करते हैं। अब आप सोचिए कि एक नारियर पेड़ पर चढ़कर नारियल तोड़ने भला कितने रुपये ही कमाता होगा। लेकिन गिरेश जितने भी कमाते हों पर वो लोगों की तरह अपनी जेबें भरने वालों में से नहीं हैं। वो उन लोगों में से हैं जो दुनिया की सूरत बदलने की कोशिश कर रहे हैं। यहां तक कि गिरेश के इस नेक काम की लोगों ने भी सराहना की। इस मुश्किल दौर में आप जिसकी भी मदद कर सकते हैं… करिए। चाहे वो इंसान हो या फिर बेजुबान जानवर।