अब इंदौर से लौटे लोगों को भी किया जा रहा है क्वारेंटाइन!

दूसरे प्रदेश से लौट रहे मजदूरों सहित लोगों को क्वारेंटाइन में रखा जा रहा है जिनके लिए शहर के शासकीय छात्रावास और विद्यालय भवनों का उपयोग किया जा रहा है। प्रदेश के इंदौर में कोरोना वायरस केपीटल बनने के कारण अब यहां पर सर्वाधिक संक्रमित लोग सामने आ रहे है जिसके बाद इस शहर से लौट रहे लोगों को एहतियात के तौर पर क्वारेंटाइन करने का निर्णय लिया गया है। 
शहर के नागपुर रोड़ स्थित आदिवासी बालक छात्रावास में तीन लोगों सहित एक छोटे बच्चें को क्वारेंटाइन किया गया है। यह लोग इंदौर में काम करते थे। वहां से लौटने पर प्रशासन ने इन लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण कर क्वारेंटाइन में रखा है। गौरतलब है कि जिले में पहला कोरोना पॉजिटिव मरीज भी इंदौर से लौटा था। सरकारी विभाग में बड़े पद पर आसिन इस मरीज की पहचान होने के बाद ही प्रशासन ने इंदौर से आने वाले लोगों को गंभीरता से लेना शुरू कर दिया है।

कहां कितने मरीज हैं क्वारेंटाइन

वैसे कई मजदूरों को होम आइसोलेट होने के लिए कहा गया है। दूसरे प्रदेशों से लौटे मजदूरों को प्रशासन ने अपनी देखरेख में सरकारी भवनों में रखकर इनका रोज स्वास्थ्य परीक्षण और खानपान का इंतजाम किया है।