लॉकडाउन के समय कचरे के ढेर से मिला नवजात, महिला ने कहा 'मैं बनूंगी इसकी मां'

बेटा पाने के लिए लोग मन्नत मांगते है, जगह-जगह मंदिर और मस्जिदों में जाकर मत्था तक टेकते हैं, लेकिन पटना में एक ऐसी घटना हुई है जिसने सबके दिल को झकझोर कर रख दिया है. यहां किसी ने एक नवजात को बोरे में बंद कर कचरे के ढेर में फेक दिया और फिर वहां से फरार हो गया.
पूरा मामला पटना के कदम कुआं थाना क्षेत्र का है जहां सोमवार को एक कचरे के ढेर से एक नवजात शिशु मिला है. एक नवजात के कचरे के ढेर से मिलने की खबर से पूरे इलाके में सनसनी फैल गई. सुबह शौच के लिए गई महिला को कचरे के ढेर से बच्चे के रोने की आवाज सुनाई दी. ये अवाज ढेर में पड़ी एक बोरी से आ रही थी. महिला ने पास जाकर देखा तो बोरे में बंद सुगबुगाते बच्चे पर महिला की नजर पड़ी जिसे देख वो चकित रह गई.  
महिला ने तुरंत बंद बोरी का मुंह खोला और नवजात को गले से लगा लिया. ये खबर इलाके में आग की तरह फैल गई. मौके पर लोग इकट्ठा होने लगे. सभी के जुबान पर एक ही शब्द था कैसी निर्दयी मां थी जो अपने जिगर के टुकड़े को कचरे के ढेर में फेक दिया. वहीं पुलिस को जब पूरी घटना का पता चला तो अधिकारियों ने तुरंत वारदात के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरे की छानबीन शुरू कर दी. 
फिलहाल नवजात शिशु महिला के पास है और वो उसका एक मां की तरह खयाल रख रही है. पुलिस की जांच पूरी होने के बाद ही ये स्पष्ट हो पाएगा कि बच्चे को किसने वहां फैका और उसके असली मां -बाप कौन है? पुलिस ने बताया कि जल्द इस घटना की गुत्थी को सुलझा लिया जाएगा.