लॉकडाउन में इस पुलिसवाले ने काटे अपने साथी के बाल, लोगों ने किया सराहना...

देश में लॉकडाउन के बीच इन दिनों पुलिस के कई चेहरे सामने आ रहे है। कभीपुलिस एक मददगार साथी की भूमिका में नजर आ रही है। कभी किसी वृद्ध को बैंक तक पहुंचाने का काम तो कभीकिसी गर्भवती महिला को समय पर अस्पताल पहुंचा रही है। जोधपुर शहर में रविवार को पुलिस की एक और काम हेयर कटिंग में भी महारत देखने को मिली। शहर के कर्फ्यू प्रभावित विजय चौक में एक पुलिस हेड कांस्टेबल के बाल काटते कांस्टेबल का वीडियो शहर में तेजी से वायरल हो रहा है।
दरअसल,कोरोना से निपटने के लिए डॉक्टरों ने अस्पतालों में और पुलिस ने लॉकडाउन कापालनकराने के लिए सड़कों पर मोर्चा संभाल रखा है। दोनों का ही काम इन दिनों बहुत अधिक बढ़ा हुआ है। ये लोग अपने घर भी नहीं जा पा रहे है। एक माह से अधिक अवधि से जारी लॉकडाउन के कारण कई पुलिसकर्मियों के बाल काफी बढ़ चुके है, लेकिन हेयर कटिंग की दुकानें बंद होने के कारण वे बाल कटवा नहीं पा रहे है। इसका तोड़ निकाला शहर के पुलिसकर्मियों ने। उन्होंने कहीं से कैंची और एक कंघे का जुगाड़ कर अपने वरिष्ठ साथी के बाल काट लिए। शहर केकर्फ्यू प्रभावित नागौरी गेट थाना क्षेत्र के विजय चौक में हेड कांस्टेबल प्रमोद व कास्टेबल पदमाराम की ड्यूटी लगी हुई थी। 

रविवार सुबह कास्टेबल ने ड्यूटी के दौरान एक दुकान के बाहर हेड कांस्टेबल प्रमोद को बैठा दिया। सिर से कट कर नीचे गिरने वाले बालों से कपड़ों को खराब होने से बचाने के लिए उन्हें एक अखबार पहना दिया गया। इसके बाद पदमाराम ने बड़ी शिद्दत के साथ अपने वरिष्ठ साथी के बालों की कटिंग कर दी। कटिंग के दौरान वहां से निकलने वाली एक युवती ने मदद की पेशकश की, लेकिन उन्होंने मुस्कराते हुए इनकार कर दिया। कैंची छोटी होने के कारण बाल काटने में समय थोड़ा अधिक जरूर लगा। लेकिन उन्होंने बेहतरीन कटिंग कर अपने वरिष्ठ साथी की परेशानी को दूर कर दिया।

नागौरी गेट थानाधिकारी जब्बरसिंह ने कहा कि लॉकडाउन के चलते आम लोगों की तरह हीहमें भी दिक्कतें होती है, लेकिन हमने आपस में उसका समाधान निकाल लिया। इसी तर्ज पर लॉकडाउन में घर बैठे लोग यदि चाहे तो घर बैठे समाधान निकाल सकते हैं। अनुशासन से बंधी पुलिस के लिए बाल छोटे होना आवश्यक है, लेकिन आमजन के लिए यह कोई नियम नहीं है। ऐसे में यदि उनके बाल बढ़ते भी है तो कोई दिक्कत वाली बात नहीं है, लेकिन सबसे आवश्यक है कि वे लॉकडाउन का पालना करे।