लॉकडाउन में एंबुलेंस के अभाव में समय पर अस्पताल नहीं पहुंची महिला, शिशु ने गर्भ में तोड़ा दम

उत्तराखंड में प्रशासन की बड़ी लापरवाही सामने आई है, जहां एंबुलेंस न मिलने के चलते एक गर्भवती महिला दर्द से तड़पती रही। वहीं समय पर अस्पताल न पहुंचने के कारण शिशु ने गर्भ में ही दम तोड़ दिया।
जानकारी के अनुसार, मामला उत्तरकाशी जिले का है, जहां पर मोरी ब्लॉक के गंगाड गांव निवासी प्यारे लाल की 21 वर्षीया पत्नी प्रियंका को अचानक प्रसव पीड़ा होने लगी। परिजनों के द्वारा गर्भवती को चारपाई पर बांधकर दुर्गम पगडंडियां लांधी। साथ ही किसी तरह 10 किमी. तक का सफर तय कर सड़क पर पहुंचे।
वहीं तालुका से एम्बुलेंस को फोन किया गया लेकिन एम्बुलेंस खराब थी। इसी बीच टैक्सी से अस्पताल पहुंचते-पहुंचते गर्भवती की हालत बिगड़ गई। बता दें कि अस्पताल पहुंचने पर डॉक्टरों के द्वारा शिशु को मृत घोषित कर दिया गया।