पीएम की अपील पर दारोगा ने किया ऐसी आपत्तिजनक टिप्पणी, कर दिए गए सस्पेंड!

प्रयागराज के पडोसी जनपद प्रतापगढ़ में कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए दीपक जलाने के पीएम की अपील पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाले दारोगा को एसपी ने निलंबित कर दिया। पीएम ने जनता से की है रात नौ बजे दीपक, मोबाइल टार्च जलाने की अपील।
कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों से रविवार को रात नौ बजे अपने घरों की लाइट बंद करके दीपक, टार्च और मोबाइल का टार्च जलाने की अपील की है। इसे नौ मिनट तक जलाने की बात कही है। प्रधानमंत्री की इस अपील को लेकर लोगों में खासी जागरूकता दिख रही है क्योंकि इसी तरह प्रधानमंत्री की अपील पर जनता कफ्र्यू के दौरान 22 मार्च को शाम पांच बजे लोगों ने घरों की बालकनी में खड़े होकर शंखनाद, घंटा, थाली-ताली बजाया था।
दारोगा ने सोशल मीडिया पर की आपत्तिजनक टिप्‍पणी
इस बीच कोहंड़ौर थाने में तैनात दारोगा मुन्नीलाल ने सोशल मीडिया पर शनिवार को आपत्तिजनक कमेंट किया कि दीपक जलाने का कोरोना महामारी से कोई लेना-देना नहीं है। कहा कि छह अप्रैल 1980 को भाजपा का उदय हुआ था। भाजपा  के स्थापना का 40 साल पांच अप्रैल को पूरा हो रहा है। 
इसी की खुशी में धोखे से दीया जलवाया जा रहा है। सोशल मीडिया पर यह कमेंट वायरल हुआ तो इसे पुलिस अधीक्षक ने संज्ञान में ले लिया और दारोगा मुन्नीलाल को निलंबित कर दिया। इस बारे में एसपी अभिषेक सिंह का कहना है कि सोशल मीडिया पर वायरल आपत्तिजनक पोस्ट की जांच की गई तो पाया गया कि उसे दारोगा मुन्नीलाल ने फारवर्ड किया था। ऐसे में मुन्नीलाल को निलंबित करके विभागीय जांच की संस्तुति की गई है।