बेटी को मारते वक्त नहीं कांपे पिता के हाथ, बेदर्दी से उसका गला दबाया, और फिर काट दिया गर्दन

मीरापुर जिले के गांव सिकंदरपुर के वाजिद के परिवार में पत्नी रेहाना के साथ पांच बच्चे हैं। पुलिस पूछताछ में आरोपी वाजिद ने बताया है कि जुड़वा बेटियों में सबसे छोटी उसकी बेटी तरन्नुम उसको सबसे प्यारी लगती थी, लेकिन वह पिता से हमेशा दूर भागती थी। पत्नी रेहाना जुड़वा बेटियों में तबस्सुम को कुछ ज्यादा प्यार करती थी और तरन्नुम को दुत्कारती रहती थी। इसको लेकर वाजिद का पत्नी से विवाद रहता था।
हत्यारोपी पिता का कहना है कि करीब एक माह पूर्व उसकी मुलाकात गांव सिकंदरपुर में ही इरफान से हुई थी। मेरठ के रशीदनगर निवासी इरफान ने तंत्र-मंत्र से गृहक्लेश खत्म करने का दावा किया था। वाजिद ने इरफान को खाईखेड़ा स्थित ईंट-भट्ठे पर बुलाना शुरू कर दिया। वहीं, पर दोनों एक साथ नशा करते हुए तंत्र-मंत्र करने लगे थे।
हत्यारोपी पिता के अनुसार, एक दिन तांत्रिक ने उसको सबसे प्यारी बेटी की बलि चढ़ाने के लिए उकसाकर कहा कि उसकी समस्याएं पूरी तरह से खत्म हो जाएंगी। तांत्रिक के बहकावे में आकर वाजिद रविवार शाम को घर के बाहर खेल रही तरन्नुम को भट्ठे के पास खेत में लेकर गया। वहां पर पहले तो बेटी का गला दबाकर उसको अचेत किया फिर फावड़े से गर्दन पर वार कर दिया, जिससे बच्ची की मौके पर ही मौत हो गई। इसके बाद आरोपी ने बच्ची के शव को पास ही पहले से खोदे गए गड्ढे में दबा दिया।
वाजिद की बेटी रविवार को लापता हुई तो पत्नी रेहाना ने वाजिद से बेटी के बारे में पूछा था। सीओ राममोहन शर्मा ने बताया कि पति के हाव-भाव देखकर रेहाना को उस पर शक हो गया था, जिसके बाद उसने पुलिस को सूचना दे दिया। उसके शक के आधार पर पुलिस ने सोमवार सुबह 6.30 बजे वाजिद को हिरासत में ले लिया तो उसने पूरी कहानी ही बयां कर दी, जिसके बाद बच्ची का शव बरामद कर तांत्रिक को भी गिरफ्तार कर लिया गया।
हत्यारोपी पिता वाजिद और उसके मित्र तांत्रिक इरफान के चेहरे पर मासूम बच्ची की हत्या के बाद भी कोई शिकन नहीं दिखाई दे रही थी। वाजिद ने पुलिस को बताया कि तांत्रिक इरफान साइकिल से करतब दिखाता था। उसने साइकिल पर जादू करने और गायब होने की कला के लिए सिद्धि दिलाने का वादा भी वाजिद से किया था। दोनों आरोपी इसके बाद लगातार संपर्क में रहे थे और रोज नशा करने लगे। पूछताछ में उसने बताया कि इरफान कई साल पहले आत्महत्या का प्रयास भी कर चुका था, जिसे मेरठ पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भी भेजा था।