लॉकडाउन में पति की हो गई मौत, और यहाँ पत्नी का है बुरा हाल!

कोरोना वैश्विक महामारी का कहर इतना बढ़ गया कि किसी व्यक्ति की मौत कहीं हो जाती है तो उनका शव भी नहीं मिल रहा है, चाहे उसकी मौत साधारण बीमारी से ही क्यों नहीं हुई हो। ऐसा ही मामला यहां थानागाजी उपखण्ड के गांव राजपुरा सिख की जोगियों की ढाणी का है, जहां के एक युवक की श्रीनगर में हार्टअटैक से मौत हो गई और उसका वहीं पर अंतिम संस्कार कर दिया गया। मृतक का छोटा भाई भी लॉक डाउन में श्रीनगर में फंसा गया है।  ऐसे में परिजन चिंतित हैं। 
थानागाजी उपखण्ड क्षेत्र की ग्राम पंचायत चांदपुरी के गांव राजपुरा सिख जोगियों की ढाणी निवासी हरी सिंह योगी ने बताया कि बाबूलाल योगी का 24 वर्षीय पुत्र चौथमल योगी 19 मार्च 2020 को श्रीनगर जम्मू कश्मीर कैंटीन में काम करने गया था। युवक की की मौत 13 अप्रेल को श्रीनगर में हार्ट अटक से हो गई। घर पर मौत का समाचार 14 अप्रेल को मिला। मृतक की पत्नी पपीता देवी को क्या मालूम था कि उसका पति कमाने गया है, लेकिन उसके दर्शन भी नहीं होंगे। 
इतना ही नहीं उसका देवर मृतक का छोटा भाई योगेश योगी श्रीनगर के आगे कैंटीन में रहकर काम करता है। बड़े भाई की मौत के समाचार के बाद वह भी श्रीनगर में था, लेकिन लॉक डाउन में फंस गया।  इधर, परिजनों को छोटे बेटे की भी चिंता सता रही है। अलवर सांसद बालक नाथ ने भी इस संबंध में श्रीनगर जम्मू-कश्मीर जिला कलक्टर को पत्र लिखा था। परिजनोंं ने एसडीएम को बताया कि मृतक का वहीं अंतिम संस्कार कर दिया गया है। परिजन छोटे बेटे की बुलवाने की मांग कर रहे हैं।