सूरत से पैदल लौट रहे युवकों का बैग लेकर भागा ट्रक चालक, दुत्कार कर भगाया!

कोरोना वायरस से जंग में लोग जहां एक-दूसरे की मदद के लिए आगे आ रहे हैं, वहीं एक ट्रक चालक ने शर्मसार करने वाला कृत्य किया। सूरत से पैदल सतना लौट रहे पांच युवकों को रायसेन पुलिस की पहल पर लिफ्ट देने वाला ट्रक चालक रात में सोता छोड़ भाग गया। रास्ते में उनके बैग से 10 हजार रुपए भी निकाल लिए। युवक गुरुवार को पैदल बेलखेड़ा पहुंचे और शिकायत की।
जानकारी के अनुसार सतना निवासी नवल पटेल, बुद्धविलास, सत्येंद्र पटेल, दीपक प्रजापति और शिव सम्पत काम करने सूरत गए थे। लॉकडाउन के कारण वे पांच दिन पहले पैदल ही सतना के लिए रवाना हुए। भोपाल से आगे रायसेन पुलिस ने उन्हें पैदल जाते देख चावल लेकर सिलीगुड़ी जा रहे ट्रक (यूपी 63 एटी 5352) में बैठाया। ट्रक चालक ने पुलिस को अपना नाम धर्मराज जामनेर मिर्जापुर यूपी लिखवाया। 

युवकों के मुताबिक वे बुधवार रात 11 बजे नरसिंहपुर जिले में बंधी प्लांट के पास पहुंचे। ट्रक चालक ने आगे जंगल का हवाला देकर वाहन रोक दिया। युवकों से यहीं रुकने के लिए कहा और उनके साथ सो गया। रात में मच्छर काटने की बात कहकर ट्रक में पहुंचा और युवकों को सोता छोडकऱ वाहन सहित भाग गया।

युवकों के बैग और अन्य सामान ट्रक के केबिन में था। रास्ते में ट्रक चालक ने बैग से 10 हजार रुपए निकाले और बैग फेंक कर भाग गया। युवक गुरुवार को बेलखेड़ा थाने पहुंचे। थाना प्रभारी ने जीरो पर शिकायत दर्ज करने के बजाय दो युवकों को दूसरे ट्रक से सुआतला थाने भिजवाया। युवक गिड़गिड़ाते रहे, लेकिन टीआई ने एक न सुनी। उन्होंने उन्हें भरोसा दिलाया कि सुआतला पुलिस प्रकरण दर्ज कर किसी अन्य ट्रक से यहां भिजवा देगी।