लॉकडाउन में बिना वजह घूमते मिली लड़कियों को पुलिस ने पढ़ाया डंडे का पाठ..

कोरोना पॉजिटिव के सामने आने के बाद शहर में लगाए कफ्र्यू में नियमों का पालन नहीं करने वालों के खिलाफ निगरानी दल ने रविवार को सख्ती दिखाई और महिलाओं पर भी लठ चलाए। नायब तहसीलादार सनोली पटवा व अन्नू जैन ने नगर का भ्रमण कर सड़क पर घूम रही महिलाओं को फटकारा और उनको खदेड़ा। दोनों अधिकारियों ने सड़क पर घूम रहे युवाओं को भी फटकारा और उन को उठक बैठक लगवाई। 
दल ने सख्ती दिखाते हुए शहर में खुली दुकानों पर भी कार्रवाई की। सड़क पर बिना अनुमति से घूमकर सब्जी बेच रहे फूटकर व्यापारियों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए सब्जी जब्त कर स्वयंसेवी संस्था को भिजवाई तो कुछ को घरों की ओर रवाना किया। इसी प्रकार टीम ने जामा मजिस्द के सामने एक किराना दुकान खुली होने पर उस पर भी कार्रवाई करते हुए दुकान से तेल व आटा जब्त कर संस्था को दे दिया। नायब तहसीलदार ने पटेल गली में दबिश देकर वहां से एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया। 

व्यक्ति हरीलाल उर्फ मुन्ना (48) पिता जयराम खटिक प्रशासन की बिना अनुमति के मीट का व्यापार कर रहा था। नायब तहसीलदार ने मीट जब्त कर श्वानों को खिला दिया, जबकि व्यापारी को गिरफ्तार कर उसके खिलाफ भादवि की धारा 188 में प्रकरण दर्ज किया। बताया जा रहा है कि व्यापारी द्वारा एक बकरा काटा गया था, जबकि दूसरा बकरा काटने जा रहा था, उसी दौरान नायब तसहीलदार टीम के साथ मौके पर पहुंच गई। 

गौरतलब है कि बिरलाग्राम पुलिस ने भी दो दिन पूर्व गावं नायन से एक युवक को बकरे बेचते हुए पकड़ा था। टीम में राजस्व विभाग के पटवारी व नगर सुरक्षा समिति के सदस्य मौजूद थे। आपको बता दे कि प्रशासन के अमले के अलावा पुलिस भी सख्त रवैये के साथ बिना वजह घूमने वालों लोगों को फटकार लगाते हुए घरों में रहने की सलाह दे रही है। इसके अलावा नहीं मानने वाले युवा, जो एक से अधिक बार देखे गए उन्हें डंडे फटकार रही है।