"भारत ने हमें दी संजीवनी बूटी" ब्राजील के राष्ट्रपति ने पीएम मोदी को दिया चिट्ठी!

कोरोना संकट से इस वक्त पूरी दुनिया जूझ रही है। इस बीच दुनिया के तमाम बड़े देशों में भारत का प्रभाव भी देखने को मिल रहा है। भारत द्वारा निर्यात की गई दवाई हाइड्रॉक्सी क्लोरोक्वीन के बाद सभी देश भारत का शुक्रिया अदा कर रहे हैं। अमेरिका के बाद अब ब्राजील के राष्ट्रपति जेर बोलसोनारो ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिख भारत का शुक्रिया अदा किया है। 
ब्राजील राष्ट्रपति ने चिट्ठी में लिखा है- संकट की इस घड़ी में भारत द्वारा की गई ब्राजील की मदद ठीक वैसी ही है जैसा रामायण में हनुमान जी ने राम के भाई लक्ष्मण की जान बचाने के लिए संजीवनी लाकर किया था। ब्राजील ने उस वक्त ये बात कही जब पूरे देश में हनुमान जयंती का त्योहार मनाया जा रहा है।

इससे पहले अमेरिकी राष्टपति डोनाल्ड ट्रंप ने हाइड्रॉक्सी क्लोरोक्वीन के निर्यात के लिए पीएम मोदी का शुक्रिया अदा करते हुए उन्हें महान बताया। बता दें मंगलवार को ही सरकार ने हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन के निर्यात पर आंशिक तौर पर प्रतिबंध हटाया है। विदेश मंत्रालय के अनुसार सरकार ने मानवीय आधार पर यह फैसला लिया है। ये दवाएं उन देशों को भेजी जाएंगी जिन्हें भारत से मदद की आस है। हालांकि घरेलू जरुरतें पूरी होने के बाद स्टॉक की उपलब्धता के आधार पर निर्यात किया जाएगा। महामारी बनकर उभरा कोरोना वायरस दुनिया के कई देशों में तेजी से फैल रहा है। 

अमेरिका, इटली, स्पेन जैसे विकसित देश भी इस महामारी से बेबस नजर आ रहे हैं। ऐसे में तमाम बड़े देशों की नजर भारत पर टिकी हुई है। हाइड्रॉक्सी क्लोरोक्विन भारत में मलेरिया के इलाज की दवा है। भारत में मलेरिया के मामले हर साल बड़ी संख्या में आते हैं और यही वजह है कि भारत इसका सबसे बड़ा उत्पादक है। ये दवा कोरोना महामारी से निपटने के लिए एंटी-वायरल के रूप में इस्तेमाल हो रही है।