आबादी के बीच ही रोक दिए जमाती, उठी काफी आपत्ति, बदला स्थान!

कोरोना वायरस की रोकथाम में लगा पुलिस-प्रशासन जल्दबाजी में उस समय चूक कर गया, जब बुधवार की रात विभिन्न राज्यों के 91 जमातियों को नगर के गांधी रोड पर आबादी के बीच क्वारंटाइन कर दिया। जमातियों को देख लोगों ने आपत्ति उठाई, तो आनन-फानन में जमातियों का स्थान बदलकर उन्हें पूर्वी यमुना नहर पर जेएस फार्म पर क्वारंटाइन कर किया गया। बाहर पुलिस का पहरा बैठा दिया, ताकि कोई इधर-उधर न हो सके।
बुधवार को पुलिस ने अभियान चलाया तो शहर और आसपास क्षेत्र से विभिन्न राज्यों के लगभग 91 जमाती मस्जिद, मदरसे और घरों में रुके मिले। पुलिस ने सभी को गांधी रोड स्थित ऋषभ देव सभागार में बुलाया और चिकित्सकों की टीम से सभी का चेकअप कराने के बाद उन्हें वहीं पर क्वारंटाइन कर दिया। खानपान की व्यवस्था भी कराई। उसके बाद शाम तक तो ठीकठाक रहा, लेकिन जैसे ही शाम ढलनी शुरू हुई तो आसपास रहने वाले लोगों ने जमातियों के क्वारंटाइन करने पर कड़ी आपत्ति उठानी शुरू कर दी। 

लोगों का कहना था कि कोरोना को लेकर जमातियों की ठीक ढंग से जांच भी नहीं, इसलिए इन्हें आबादी के बीच में क्वारंटाइन कर दिया। यह आपत्ति जैसे ही पुलिस-प्रशासन तक पहुंची तो हलचल बढ़ गई। आनन-फानन में सभी जमातियों का स्थान बदला गया और देर रात जमातियों को पुलिस सुरक्षा में पूर्वी यमुना नहर पर स्थित जेएस फार्म पर क्वारंटाइन कर दिया गया। फार्म के बाहर पुलिस को तैनात कर दिया गया ताकि कोई इधर-उधर न हो सके।
Loading...