कोरोना की दस्कत के बाद यहाँ पर लगाया गया कर्फ्यू, हर जगह पुलिस, छावनी में तब्दील हुए गांव

अलवर जिले में कोरोना ने दस्तक दे दी है। तीन दिन में कोरोना पॉजिटिव दो केस सामने आ चुके हैं। जिसके चलते पहले बहरोड़ के मिलकपुर और अब कठूमर के नंगला माधोपुर गांव में कफ्र्यू लगा दिया गया है। गांवों की सीमाएं सील कर दी गई हैं। किसी को इन गांवों में आने-जाने नहीं दिया जा रहा है और लोग घरों में कैद हो गए हैं। बहरोड़ के मिलकपुर में फिलीपींस से आए एमबीबीएस छात्र में तीन दिन पहले कोरोना पॉजिटिव की पुष्टि हुई। 
इसके बाद तत्काल पुलिस प्रशासन ने तीन किलोमीटर एरिया में गांव की सीमाएं सील कर दी तथा एक किलोमीटर एरिया में कफ्र्यू लगा दिया गया। इसके बाद कठूमर के नंगला माधोपुर गांव में बुधवार रात 85 वर्षीय वृद्ध के कोरोना पॉजिटिव होने पुष्टि हुई। देर रात ही भारी पुलिस बल गांव में भेज दिया गया। गांव के एक किलोमीटर के दायरे में कफ्र्यू लगा दिया गया है तथा तीन किलोमीटर एरिया की सीमाओं को सील कर दिया गया है।

कोरोना पॉजिटिव मरीज मिलने के बाद से अलवर जिले के मिलकपुर और नंगला माधोपुर गांव पुलिस छावनी बने हुए हैं। दोनों गांव में चप्पे-चप्पे पर पुलिस नजर आ रही है। लोगों को घरों से बाहर नहीं निकलने दिया जा रहा है। इन गांवों में प्रवेश करने वाले रास्तों पर भी पुलिस का कड़ा पहरा है। किसी को इन गांवों में नहीं जाने दिया जा रहा है। 

मिलकपुर गांव में भिवाड़ी पुलिस अधीक्षक अमनदीप सिंह और नंगला माधोपुर में अलवर पुलिस अधीक्षक परिस देशमुख ने कफ्र्यू का जायजा लिया तथा पुलिस अधिकारी इन गांवों की हर गतिविधि पर नजर रखे हुए हैं। मिलकपुर और नंगला माधोपुर गांव में कोरोना पॉजिटिव मरीज सामने आने से डरे हुए हैं। लोग घरों से बाहर नहीं निकल रहे हैं और घरों में ही सुरक्षा इंतजाम अपना रहे हैं। वहीं, इन दोनों गांवों के आसपास के गांवों के लोगों में भी दहशत बनी हुई है।
Loading...