"तबलीगी जमात को पसंद नहीं करता है मुसलमान" : मुस्‍लिम धर्मगरु शेर मोहम्मद खान रिजवी

दिल्‍ली के निजामुद्दीन मरकज में तबलीगी जमात में जिस तरह से सरकारी आदेशों को ताख पर रखते हुए कार्यक्रम हुआ उसकी देशभर में आलोचना हो रही है। मुस्‍लिम धर्मगरु भी जमात की इस हरकत से काफी खफा है। ऐसे में राजस्‍थान से मुस्लिम धर्मगुरु शेर मोहम्मद खान रिजवी (मुफ़्ती-ए-आजम) ने ऐलान किया है कि भारत के लोगों का इस जमात से कोई ताल्‍लुक नहीं है। इसके साथ ही धर्मगुरु शेर मोहम्मद खान रिजवी ने सभी मुस्लिमों को अपने घरों में रहने और पुलिस, प्रशासन औऱ मेडिकल टीम का सहयोग करने का भी आदेश दिया है। उन्‍होंने कहा कि जहां पर भी मेडिकल टीम या प्रशासन के साथ मारपीट की घटना हुई है, बहुत निंदनीय हैं  इस्लाम इसकी इज़ाज़त नहीं देता।
तबलीगी जमात पर मुस्लिम धर्मगुरु शेर मोहम्मद खान रिजवी ने कहा, ‘देश का 80 फीसदी मुसलमानों का इस जमात से कोई ताल्लुक नहीं है, हमारा इस जमात से कोई ताल्लुक नहीं है। सभी हिंदू भाई, मीडियावालों से दरख्वास्त हैं कि इस जमात को मुसलमान कतई पसंद नहीं करता’ धर्मगुरु ने कहा, ‘विशेष जयपुर के रामगंज के मुस्लिम से मेरी दरख्वास्त है कि मेडिकल टीम, प्रशासन और पुलिस का हर वक़्त सहयोग करें घरों से बाहर नहीं निकलें।’ धर्मगुरु शेर मोहम्मद खान रिजवी ने सभी मुस्लिम से दरख्वास्त करते हुए कहा कि कल जुम्मे की नमाज़ के वक़्त घर पर नमाज़ अदा करें और मस्जिद में सिर्फ इमाम और 3-4 लोग ही नमाज़ पढ़ें।

बता दें कि दिल्ली के निजामुद्दीन में स्थित तबलीगी जमात के मरकज से दुनिया के 150 देशों से ज्यादा जमातें इस्लाम के प्रचार-प्रसार के लिए जाती हैं। दुनिया के तमाम देशों से तबलीगी जमात के लोग भारत में भी आते हैं। हालांकि सऊदी अरब जहां से इस्लाम की शुरुआत हुई, वहीं पर तबलीगी जमात पूरी तरह बैन है। इसके अलावा ईरान में भी इन्हें इस्लाम के प्रचार-प्रसार करने की इजाजत नहीं है।

मौलाना इलियास कांधलवी ने 1927 में तबलीगी जमात का गठन किया था। ये देवबंदी विचारधारा से प्रेरित और मुसलमानों में हनफी संप्रदाय के मानने वाले हैं। इलियास कांधलवी पहली जमात दिल्ली से सटे हरियाणा के मेवात के मुस्लिम समुदाय लोगों को इस्लाम की मजहबी शिक्षा देने के लिए ले गए थे। इसके बाद से तबलीगी जमात का काम दुनिया के तमाम देशों में काफी फल-फूल रहा है, लेकिन सऊदी अरब और ईरान में तबलीगी जमात अपनी जगह नहीं बना पाई है।
Loading...