लॉकडाउन : जमात से लौटे मुस्लिम युवक की खेत में ले जाकर कर दिया गया बेदर्दी से पिटाई!

कथित गौरक्षा के नाम पर शुरू हुई मॉब लिंचिंग को जमात के नाम का सहारा मिल गया। देश भर में मुस्लिमों को जमात का बताकर निशाना बनाया जा रहा है। ताजा मामला मध्य प्रदेश के रायसेन का है। जहां कथित तौर पर जमात से लौटे मुस्लिम युवक की बेदर्दी से पिटाई की गई।
घायल युवक की पहचान दिलशाद उर्फ महबूब अली के तौर पर हुई है। वह लॉकडाउन में मध्य प्रदेश से सब्जी के ट्रक में छिपकर रविवार को दिल्ली पहुंचा था। हालांकि आजादपुर मंडी के पास महेंद्रा पार्क से पुलिस ने पकड़ कर उसका चेकअप कराया और गांव पहुंचा दिया। आरोप है कि गांव पहुंचते ही उसके बारे में हल्ला मच गया और गांव के 3-4 लड़के उसे खेत में ले गए।

मारपीट के दौरान हमलावरों में से एक युवक मोबाइल से वीडियो बनाता रहा, जबकि पीड़ित हाथ जोड़कर बार-बार रहम की गुहार लगाता रहा। रविवार रात घटना का वीडियो गांव में वायरल हो गया। बुरी तरह से घायल युवक को एंबुलेंस के जरिए पहले बाबा अंबेडकल अस्पताल ले गए, जहां से उसे जीबी पंत हॉस्पिटल रेफर कर दिया गया।

दिल्ली पुलिस के मुताबिक, बवाना पुलिस थाने में पुलिस ने दिलशाद के पिता श्यामलाल के बयान पर आईपीसी की धारा 323, 341, 506 और 34 के तहत गांव के कुछ लोगों के खिलाफ नामजद केस दर्ज कर लिया है। लॉकडाउन के सरकारी आदेश का उल्लंघन करने के आरोप में दिलशाद अली के खिलाफ भी आईपीसी की धारा 188 के तहत केस दर्ज किया गया है।