कोरोना से मौत से पहले वीडियो कॉल पर बेटी और पत्नी से बात की थी, बेटी ने कहा था "पापा! आप स्ट्रांग हो, कोरोना को हराकर आना"

उज्जैन के नीलगंगा थाना प्रभारी 59 वर्षीय यशवंत पाल की कोरोना संक्रमण से मौत हो गई। 6 अप्रैल को रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद इंदौर के अरबिंदो अस्पताल में इलाज चल रहा था।
डॉक्टरों के अनुसार उनके दोनों फेफड़ों में निमोनिया हो गया था। सांस लेने में तकलीफ हो रही थी। दो दिनों तक उन्हें वेंटीलेटर पर भी रखा गया था, मगर उन्हें बचाया नहीं जा सका। मंगलवार सुबह 5.10 बजे टीआइ पाल ने अंतिम सांस ली। उनकी पत्नी और दोनों बेटियां वहां मौजूद थीं। एक बेटी उनकी तस्वीर से लिपटकर रोती रही।
डॉक्टर ने सुमित ठक्कर को बताया किटीआई यशवंत पाल के डॉक्टर नीरज सेन ने परिवार से सोमवार रात 9:12 बजे वीडियो कॉल पर यह बातचीत करवाई। टीआई की पत्नी ने डॉक्टर को मैसेज किया, ‘थैंक्यू सो मच डाॅक्टर... आप उनका ध्यान रखिएगा... प्लीज सर... आप ही हमारी होप हैं... थैंक्स। वीडियो कॉल पर बेटी ने यशवंत पाल से बातकीथीतब उन्होंनेहाथ से इशारा कर कहा था 'बढ़िया हूं'।