कच्चे तेल के दाम में आई ऐतिहासिक गिरावट, जानिए पेट्रोल और डीजल का ताजा रेट

कच्चे तेल(क्रूड आयल) के भाव में इतिहास की सबसे बड़ी गिरावट देखने को मिली है. डब्ल्यूटीआई का वायदा भाव -$3.70 प्रति बैरल के अब तक के सबसे निचले स्तर पर पहुंच गया है. कच्चे तेल की मांग में आई भारी कमी की वजह से ऐसा हुआ है.
इसके अलावा कोरोना वायरस के चलते जारी लॉकडाउन का आज 28वां दिन है और देश में भी पेट्रोल और डीजल की मांग में भारी कमी आई है. कई दिनों से इनके दाम स्थिर बने हुए हैं. आज भी पेट्रोल और डीजल के दाम में कोई बदलाव नहीं आया है. अप्रैल के पहले दो सप्ताह में पेट्रोल की बिक्री 64 फीसदी और डीजल की बिक्री 61 फीसदी कम हो गई है.

बिना हॉटस्पॉट वाले इलाकों में सोमवार से रेल, सड़क और समुद्री मार्ग से अंतरराज्यीय और राज्य के भीतर माल की ढुलाई शुरू हो गई है. इसलिए यह अनुमान लगाया जा रहा है कि आगे कुछ मांग बढ़ने की संभावना है. पेट्रोल और डीजल के कीमतों की हर दिन समीक्षा होती है. सुबह 6 बजे नई कीमतें जारी की जाती हैं.

अमेरिकी बेंचमार्क क्रूड वेस्ट टेक्सास इंटरमीडिएट के लिए सोमवार का दिन एक तबाही की तरह रहा है. कच्चे तेल के भाव में इतिहास की सबसे बड़ी गिरावट देखने को मिली है. डब्ल्यूटीआई का वायदा भाव -$3.70 प्रति बैरल के अब तक के सबसे निचले स्तर पर पहुंच गया है. कच्चे तेल की मांग में आई भारी कमी की वजह से ऐसा हुआ है. 

अमेरिका के पास कच्चा तेल रखने की जगह नहीं बची, वहीं दूसरी तरफ कोरोना वायरस संकट के कारण लॉकडाउन में तेल की खपत घट गयी है. इस वजह से मौजूदा दौर में कोई व्यापारी कच्चा तेल खरीदकर उसे अपने पास रखने की स्थिति में नहीं है.