लॉकडाउन के दौरान वज्रपात में महिला की मौत, मंदिर हो गया क्षतिग्रस्त

इचाक थाना क्षेत्र के टेपसा जंगल में वज्रपात की चपेट में आने से 70 वर्षीय महिला की मौत घटनास्थल पर हो गई। घटना मंगलवार 3:30 बजे के करीब घटी। मृतक महिला धनेश्वरी देवी पति स्व बालकी महतो सदर थाना क्षेत्र के नगवां चुरचू गांव की रहने वाली है। वह बकरी चराने गई थी। घटना की जानकारी मिलते ही मृतक के पुत्र और परिजन घटनास्थल पर पहुंचकर शव उठाया। 
पश्चिमी के पूर्व जिप सदस्य एवं समाजसेवी उमेश प्रसाद मेहता की पहल पर मृतक के शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेजा गया। उन्होंने धनेश्वरी के मौत पर संवेदना व्यक्त करते हुए मदद का आश्वासन दिया। वही वज्रपात की घटना में जलौन्ध गांव का शिव मंदिर क्षतिग्रस्त हो गया। 

पंचायत के उप मुखिया बंसी मेहता ने बताया कि घटना के समय मंदिर परिसर में कोई व्यक्ति नहीं था। करीब 3:30 बजे कड़क के साथ गुंबज पर वज्रपात हुआ। यह सीधे शिवलिग के बगल में जा गिरा। वज्रपात से मंदिर के सतह का टाइल्स-माबल पूरी तरह से उखड़ गया। जबकि वहां रखा इनवर्टर का बैटरी अलग हो गया।