मरकज़ से लौटे दिलशाद को लोगों ने कोरोना फैलाने के शक में लोगों ने पीटकर बेहाल कर दिया!

सोशल मीडिया पर एक वीडियो काफी वायरल हो रहा है, जिसमें कुछ लोग एक लड़के को पीटते हुए दिख रहे हैं. पीटने वाले लोग लड़के के ऊपर कोरोना फैलाने का मकसद रखने का आरोप लगा रहे हैं. कह रहे हैं कि वो गांव में कोरोना फैलाने के मकसद से आया है. (वीडियो काफी हिंसक है, इसलिए दिखा नहीं सकते)

कहां का वीडियो है?

दिल्ली का एक गांव है हरेवली. ये वीडियो इसी गांव का है. जिस लड़के को पीटा जा रहा है, उसका नाम दिलशाद है. 22 बरस का है. डेढ़ महीने बाद भोपाल से अपने गांव लौटा था. 5 अप्रैल के दिन. गांव के कुछ लोगों ने उसे कोरोना का संदिग्ध समझा और खेत में ले जाकर उसकी पिटाई. लोगों को शक था कि दिलशाद ज़बरन कोरोना फैलाने के लिए गांव आया है.

पुलिस क्या कहती है?
सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने एक्शन लिया. इस मामले की जांच कर रहे ASI विजेंदर से हमारी बात हुई. उन्होंने बताया कि तीन लोगों के खिलाफ FIR लिखी जा चुकी है और उनकी गिरफ्तारी भी हो गई है. गिरफ्तार होने वालों में 30 साल का नवीन कुमार, 26 साल का प्रशांत कुमार और 30 साल का प्रमोद कुमार शामिल है. ये भी कहा कि मामले की आगे जांच चल रही है.

ASI विजेंदर ने बताया कि दिलशाद फरवरी में भोपाल गया था. डेढ़ महीने तक वो वहां एक मरकज़ में रह रहा था. 5 अप्रैल को एक ट्रक में छिपकर दिल्ली लौटा, जहां पुलिस ने उसे पकड़ लिया. उसका टेस्ट हुआ, रिपोर्ट निगेटिव आई. जिसके बाद उसे घर जाने की परमिशन मिल गई. जब वो घर पहुंचा, तो लोगों के बीच अफवाह फैल गई कि वो कोरोना फैलाने की साजिश के चलते गांव आया है. उसे कुछ लोग काम के बहाने खेत लेकर गए. जहां जमकर पीटा. खैर, अभी दिलशाद अस्पताल में भर्ती है. रिपोर्ट्स के मुताबिक, उसकी हालत में सुधार हो रहा है.