बेटा बोला, "मेरा इलाज क्यों नहीं कराते हो, इतना कहकर पिता को दे दी खौफनाक मौत",

शंकरगढ़ थाना क्षेत्र अंतर्गत एक युवक ने दो दिन पूर्व अपने बुजुर्ग पिता की डंडे से बेदम पिटाई कर दी थी। उसे इलाज के लिए अंबिकापुर मेडिकल कॉलेज अस्पताल ले जाया जा रहा था। इसी दौरान रास्ते में उसकी मौत हो गई थी। इसके बाद से आरोपी फरार था। आरोपी के बड़े भाई की रिपोर्ट पर पुलिस उसकी पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया है। वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी बादा जंगल में छिपा था। उसने पिता को यह कहते हुए मारा कि वह उसका इलाज नहीं करा रहा है। पुलिस ने सोमवार को उसे जेल भेज दिया।
गौरतलब है कि बलरामपुर-रामानुजगंज जिले के ग्राम डिपाडीहकला निवासी 26 वर्षीय जीतन राम ने खाना नहीं देने व इलाज नहीं कराने की बात को लेकर 4 अपै्रल की सुबह 11 बजे 70 वर्षीय पिता बीरसाय की डंडे से बेदम पिटाई कर दी थी। इससे बीरसाय गंभीर रूप से जख्मी हो गया था। उसे शंकरगढ़ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र से अंबिकापुर रेफर कर दिया गया था। इलाज के लिए अंबिकापुर ले जाने के दौरान रास्ते में ही उसकी मौत हो गई थी। 

इधर घटना के बाद से ही आरोपी फरार हो गया था। मृतक के बड़े पुत्र ने थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। पुलिस हत्या का अपराध दर्ज कर आरोपी की खोजबीन में जुटी हुई थी। इसी दौरान पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि आरोपी बादा के जंगल में छिपा है, इस पर पुलिस ने जंगल में घेराबंदी कर आरोपी जीतन राम को गिरफ्तार कर लिया।