कोरोना के समय डॉक्टर को कई बार बुलाया, नहीं आने पर किया शिकायत तो मरीज को निकाला

बिहार के लखीसराय से हैरान करने वाला वाकया सामने आया है. यहां सदर अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती एक मरीज के परिजन ने चिकित्सक पर लापरवाही का आरोप लगाया और मरीज को इलाज के लिए प्राइवेट अस्पताल ले गए. इतना ही नहीं, चिकित्सक ने पर्चे पर लिखवाया कि वह अपनी मर्जी से मरीज को ले जा रहे हो, तब जाने दिया. लेकिन इलाज नहीं किया.
जानकारी के अनुसार, सदर प्रखंड के औरेया का एक मरीज पिछले तीन दिनों से सदर अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती था. परिजन का आरोप है कि तीन दिनों से आइसोलेशन वार्ड भर्ती उनके मरीज का चिकित्सक द्वारा किसी प्रकार कोई इलाज नहीं किया जा रहा था. गुरुवार से भर्ती मरीज की इलाज के अभाव में स्थिति काफी खराब हो रही थी. वहीं परिजन द्वारा जब मरीज का इलाज के लिए अस्पताल प्रबंधन व चिकित्सक से बात की गई, तो कोई रिस्पांस नहीं लिया गया.

इस दौरान आइसोलेशन वार्ड ऑन ड्यूटी तैनात नर्स रितु कुमारी द्वारा ही मरीज का ट्रीटमेंट किया जा रहा था. मरीज व उनके परिजन बार-बार चिकित्सक को बुलाने की मांग कर रहे थे. आइसोलेशन वार्ड में ऑन ड्यूटी तैनात डा. विकास कुमार झा से कई बार-बार मरीज को देखने की बात कही, मगर एक बार भी चिकित्सक वार्ड में मरीज के इलाज के लिए नहीं पहुंचा.

परिजनों ने अस्पताल प्रबंधक से बताया कि या तो उनके मरीज का सही तरीके से इलाज कीजिए या फिर अस्पताल से डिस्चार्ज कर प्राइवेट अस्पताल ले जाने की अनुमति दें. अस्पताल प्रबंधक से भी बात नहीं बनी तो परिजन सीएस से मिले और मरीज के इलाज में लापरहवाही बरतने की बात कही. आरोप है कि शिकायत के बाद मरीज को अस्पताल से ही निकालने दिया गया.