लॉकडाउन : दुकान में ही खराब़ हो गई हैं मिठाइयां, विक्रेता हो गए बर्बाद!

लॉकडाउन का असर मिठाई विक्रेताओ व गुमटी लगाकर कचोरी समोसा बेचने वालों पर भी पड़ रहा है। लगातार 15 दिन से दुकानें बंद होने से मिठाई व कचोरी समोसे का कारोबार ठप हो गया है। स्थिति को देखते हुए कुछ दुकानदारों ने पहले ही दुकानों से काफी मिठाइयां निकाल कर लोगों में बांट दी। कई दुकानों में मिठाइयां सड़ गई। दुकानदारों का कहना है कि कोरोना तो खत्म हो जाएगा लेकिन दुकानों में मिठाई व अन्य खाद्य सामग्री खराब होने से काफी नुकसान हुआ है। 
कस्बे में एक दर्जन के लगभग मिठाई की बड़ी दुकान है। इसके अलावा गुमटिया व ठेले अलग से है। यह प्रतिदिन कचोरी समोसे तथा मिठाई बना कर बेचते है। लेकिन लॉकडाउन के चलते अंदर रखी मिठाइयां खराब हो गई। दुकानदार भगवान पुरोहित ने बताया कि वे मिठाई बनाने के लिए पहले ही मावा, दूध, दही, मैदा सहित अन्य चीजें मंगवा कर रखते हैं। 

ताकि आवश्यकता होते हैं मिठाई बनवा लें। इसके अलावा जिन मिठाइयों की ज्यादा मांग होती है उसे ज्यादा बनाकर रखते हैं। लेकिन किसी को पता नहीं था कि कोरोना के चलते लॉकडाउन होगा और इतना लंबा चलेगा। 21 मार्च को जैसे ही दुकानें बंद हुई उस दौरान करीब सभी दुकानों में मिठाइयां भरी थी। दो-तीन दिन बाद ज्यादातर दुकानदारों ने शटर ऊंचा कर दुकानों में काफी मिठाइयां निकालकर बाहर फेंक दी।
Loading...