कोरोना काल में अपने मोबाइल फोन को सैनिटाइज़ कैसे करें? जानिए तरीका

दुनिया भर में कोरोना वायरस से संक्रमण के मामले बढ़ते जा रहे हैं. पंजाब में नर्स को कोरोना संक्रमित मरीज़ का मोबाइल इस्तेमाल करने से कोरोना संक्रमण हो गया है. संक्रमित नर्स के बारे में डॉक्टर जसजीत कौर ने इंडिया टुडे से बातचीत में कहा कि डॉक्टर और नर्स कोरोना वायरस से संक्रमण का खतरा झेल रहे हैं. इस मामले के बाद अब डॉक्टर और नर्स को मरीजों से दूरी बनाए रखने की सलाह दी गई है.
कोरोना वायरस सतह पर भी रह सकता है. कितनी देर तक टिका रह सकता है, यह इस बात पर निर्भर करता है कि सतह कैसी है. एम्स के डायरेक्टर डॉ. रनदीप गुलेरिया बताते हैं कि कुछ डेटा के मुताबिक़, गत्ते पर वायरस कुछ घंटे के लिए टिका रह सकता है. वही धातुओं पर खासतौर पर कम तापमान और ज्यादा नमी वाले हालात में यह 6 से 8 घंटे तक टिका रह सकता है. इसीलिए बार-बार हाथ धोना अहम है.

ऐसे में यह जानना जरूरी हो जाता है कि मोबाइल फोन को कैसे सैनिटाइज़ करें. क्योंकि यह दिनभर हमारे हाथों में रहता है. हम फोन को कहीं भी रख देते हैं. इसको लेकर इंडिया टुडे ने अवंतिका वैध से बातचीत की है. अवंतिका एम्स में संक्रामक रोग की फिजिशियन हैं. सबसे पहले तो बेसिक चीजें जान लीजिए. मोबाइल फोन को कहीं भी रखने से बचें. गंदी जगहों पर न तो न ही रखें. साफ़-सुथरे जगह पर भी रखने से बचे. जरूरी न हो तो किसी और को अपना मोबाइल न छूने दें. घर से बाहर निकले हों तो घर आकर मोबाइल को सैनिटाइज़ करें. इसके बाद हाथ की सफाई करें.

बाजार में एल्कोहल बेस्ड सैनिटाइज़र उपलब्ध हैं. ये स्प्रे और पंप फॉर्म में होते हैं. मोबाइल को सैनिटाइज़ करने से पहले मास्क, दास्ताने, स्प्रे, टिशू पेपर आदि एक जगह रख लें. सैनिटाइज़ करने से पहले मास्क और दास्ताने पहन लें. अब स्प्रे सैनिटाइज़र को करीब 1 फीट की दूरी से मोबाइल के फ्रंट और बैक साइड में स्प्रे करें. 

इसके बाद साफ टिशू पेपर से मोबाइल को अच्छे से साफ़ करें. ख़ासकर कॉर्नर्स को. फिंगर प्रिंट और कैमरे वाली जगह को भी ध्यान से साफ़ करें. साफ़ करने के बाद मोबाइल को एयर-ड्राई होने के लिए 2-3 मिनट के लिए छोड़ दें. अगर आप पंप वाले सैनिटाइज़र से मोबाइल की सफाई कर रहे हैं तो साफ़ टिशू पेपर पर सैनिटाइज़र लें और टिशू पेपर से मोबाइल को साफ़ करें.
Loading...