कोरोना : कोरोना पीड़ित का शव लेकर आ रही थी एम्बुलेंस को पुलिस ने रोका, और करा दिया अंतिम संस्कार और फिर...

मुंबई से शव लेकर आ रही एक एम्बुलेंस को शुक्रवार की सुबह जिला प्रशासन ने समस्तीपुर (Samastipur) पहुंचने से पहले ही अपने कब्जे में कर लिया. इस एम्बुलेंस से जिले के उजियारपुर थाना क्षेत्र के एक गांव के कुछ लोग 62 वर्षीय एक व्यक्ति का शव लेकर गांव जा रहे थे. बताया जाता है कि 7 अप्रैल को उस व्यक्ति की मौत मुंबई में हार्ट अटैक (Heart Attack) से हो गई थी, जिसके बाद शव को परिजन अपने घर ले जा रहे थे. लेकिन इसी बीच कुछ लोगों ने इसकी सूचना जिला प्रशासन को दे दी.
कोरोना संक्रमण की आशंका को लेकर उक्त एम्बुलेंस को सदर अस्पताल लाया गया. जहां मौजूद मेडिकल टीम ने पूरी सतर्कता के साथ एम्बुलेंस पर सवार दो चालक सहित मृतक के परिवार के पांच सदस्यों की जांच-पड़ताल की. इसके बाद एम्बुलेंस को सैनेटाइज किया गया और मृतक के शव के साथ-साथ एम्बुलेंस पर सवार सभी लोगों का कोरोना जांच के लिए सैम्पल लिया गया. जिला प्रशासन ने पुलिसिया सुरक्षा व्यवस्था के बीच शहर के मोक्षधाम में एम्बुलेंस पर सवार मृतक के पुत्र एवं अन्य परिजनों से शव का अंतिम संस्कार भी करा दिया. अंतिम संस्कार के बाद एम्बुलेंस के दोनों चालक के साथ-साथ मृतक के पुत्र और दो भाइयों को जांच रिपोर्ट आने तक सदर अस्पताल के ही आइसोलेशन में क्‍वारंटाइन पर रखा गया है.

इस मामले में समस्तीपुर सदर अस्पताल के सिविल सर्जन डॉ. सियाराम मिश्रा ने बताया कि मृतक एवं उसके पुत्र मुंबई-गोवा नेशनल हाईवे में मजदूर थे. गत सात अप्रैल को मुंबई में हार्ट अटैक से उसकी मौत हो गई थी. जिसके उपरांत पोस्टमार्टम के बाद परिजन शव को अपने गांव लाकर दाह संस्कार करना चाह रहे थे. एहतियातन मृतक के साथ-साथ उसके पुत्र, भाई एवं एंबुलेंस चालक का स्वाब जांच के लिए लिया गया है. जांच रिपोर्ट आने के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी. फिलहाल उन्हें क्वारंटाइन में रखा गया है.