वर्दी में हैं तो आप नियम तोड़ेंगे? कार से निकले दरोगा को पढ़ाया गया लॉकडाउन का पाठ

वाराणसी शहर के ग्रामीण इलाकों में स्थित बाजारों, मंडियों में लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग उल्लंघन की लगातार मिल रही शिकायतों पर गुरुवार को एसडीएम पिंडरा मनिकंडन ने निरीक्षण किया।इसी दौरान पत्नी को लेकर वर्दी में कार से निकले दरोगा को एसडीएम ने रोका और लॉकडाउन का पाठ पढ़ाया। 
एसडीएम ने दरोगा से पहले पास मांगा। दरोगा के कुछ कहने पर एसडीएम ने पूछा-‘वर्दी में हैं तो क्या नियम तोड़ेंगे...कहा लॉकडाउन में नियम सभी के लिए बराबर है। कहीं आना-जाना है। कोई बीमार है तो पास बनवाइए फिर जाइए। एसडीएम ने दरोगा की कार का चालान करने का निर्देश दिया। हालांकि दारोगा के दोबारा ऐसी गलती न करने की बात पर छोड़ दिया। बताया जाता है कि दरोगा सोनभद्र में तैनात है। इस पर एसडीएम ने उन्हें टोका कि जब आप ड्यूटी पर नहीं हैं तो वर्दी क्यों पहने हुए हैं?

इस दौरान प्रेस लिखी बाइक पर सवार युवक को रोका। पता चला कि कोई रिश्तेदार प्रेस में है। उन्होंने बाइक का चालान करवा दिया। वहीं सब्जी मंडी में सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन न करने, बेवजह घूमने वालों से उठक-बैठक करायी। एसडीएम फूलपुर इंस्पेक्टर के साथ सुबह पांच बजे ही पहुंच गए। एसडीएम को देखते ही मंडी में खरीददार एवं व्यवसायी इधर-उधर भागने लगे। तब उन्होंने मुख्य मार्ग से आने-जाने वालों की चेकिंग के निर्देश दिए। कई लोगों से उठक-बैठक कराई गई।