लॉकडाउन में घर पर खाना बनाने को लेकर मां से कहासुनी होने पर बेटी ने जो किया जानकर हैरान हुए लोग...

छतरपुर जिले के गौरिहार थाना क्षेत्र के सीलप गांव में सुवह करीब ५ बजे खाना बनाने के लिए कहने पर एक १४ वर्षीय किशोरी की मां से कहासुनी हो गई। जिससे आहत होकर किशोरी ने फांसी लगाकर आत्महत्या की कोशिश की गई। वहीं घटना की सूचना के बाद भी कराब १२ घंटे बाद १०८ एंबुलेंस पहुंची और गंभीर हालत में उसे इलाज के लिए स्वास्थ्य केंद्र लाया गया। 
जानकारी के अनुसार थाना क्षेत्र के सीलप गांव निवासी कल्लू अनुरागी की १४ वर्षीय पुत्री ममता को रविवार को सुबह करीब ५ बजे उसकी मां ने जगाया और खाना बनाने के लिए कहा। किशोरी के पिता ने बताया कि सुबह खेत में काम करने के लिए वह निकले और पत्नी को खाना लाने के लिए कहा था। जिस पर ममता को जगाकर खाना बनाने के लिए कहा जिसपर मां बेटी में कहासुनी हो गई। इसके बाद मां से उसे डांटकर खाना बनाने के लिए कहकर शौच के लिए चली गई। 

इसके बाद ममता ने चूल्हे के पास में लकड़ी रखी और फिर फंदा बनाकर झूल गई। इसी दौरान उसके छोटे भाई ने देखा तो मां सहित आसपास के लोगों को आवाज लगाई। मौके पर पहुंचे लोगों द्वारा उसे फंदे से उतारा और इसकी जानकारी डायल-१०० और १०८ एंबुलेंस को दी गई। परिजनों द्वारा १०८ में फोन कर तबियत खराब होने की बात कही। लेकिन १०८ एंबुलेंस शाम करीब ६ बजे घर पहुंची और गंभीर हालत में ममता को इलाज के लिए स्वास्थ्य केंद्र गौरिहार लाया गया। जहां पर ऑक्सीजन सिलेंडर नहीं होने से तुरंत उसे जिला अस्पताल के रेफर किया गया।