लॉकडाउन : केरल में फंसे मजदूरों ने लगाई अपनी जान बचाने की गुहार!

मजदूरी कर परिवार का भरण पोषण करने गए बेगूसराय जिला के 60 से अधिक लोग लॉकडाउन के कारण केरल में फंस गए हैं। उन्हें ना तो खाना मिल रहा है और ना ही समुचित पानी। खाना की तलाश में बाहर निकलते हैं तो पुलिस की लाठियां खानी पड़ती हैंं, जिसके कारण यह लोग त्राहिमाम कर रहे हैं। इन मजदूरों ने शासन-प्रशासन से घर भेजने तथा घर भेजने की व्यवस्था होने तक खाना उपलब्ध कराने की गुहार लगाई है।
केरल के मालापुरम जिला स्थित ऐरमन्कलम में वेलिन्कोड सड़क के एक बड़े हॉल में बेगूसराय के सोनमा, बखरी, बागवन, नावकोठी, हाजीपुर पिपरा, मोहनपुर, पवड़ा आदि गांवों के 60 से अधिक लोगों के साथ मधेपुरा, खगड़िया एवं समस्तीपुर के भी कुछ लोग फंसे हुए हैं। मो. इमरान, मो. रब्बान, मो. तनवीर आदि ने सोमवार की सुबह फोन कर रोते हुए बताया कि हम लोगों की जान बचा लीजिए, शासन-प्रशासन कोई सुन नहीं रहा है।

घर वाले परेशान हैं, जहां काम करने आए थे लॉकडाउन के बाद ठेकेदार ने काम बंद कर दिया और घर जाने को कहा। ट्रेन और बस सेवा बंद है, घर जाएं कैसे। उसने कहा कि अपने कमरे से बाहर निकलते हैं तो पुलिस पिटाई करती है। चार दिन से पूरी तरह से कमरे में कैद हैं, यहां का प्रशासन कोई व्यवस्था नहीं कर रहा है। पहले का खरीदा हुआ जो साामान था वह खा रहे हैं, लेकिन रविवार की शाम वह सामान भी करीब समाप्त हो चुका है, यहां भूखों मरने की स्थिति हो गई है।
Loading...