लॉकडाउन में ये पुलिस वाला बन गया मिसाल, निभाया ड्यूटी के साथ इंसानियत का धर्म, हो रही सब जगह तारीफ

इस समय देश संकट के दौर से गुजर रहा है। लॉकडाउन के चलते हॉटल से लेकर लगभग सारी प्रतिष्ठाने अभी बंद है। ऐसे में छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले के उतई थाने में पदस्थ जवान मुकेश गजभिये ने इंसानियत की मिशाल पेश पेश की है। मुकेश गजभिये अपनी ड्यूटी तो कर ही रहे हैं, साथ में साथियों को अपने घर में भोजन बनाकर उसकी आपूर्ति करने में भी पीछे नहीं हैं।
कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने के लिए लागू देशव्यापी लॉकडाउन के चलते पुलिस को अपनी सेवाएं पूरी मुस्तैदी से देनी पड़ रही हैं। इस दौरान दुर्ग के उतई थाने में पदस्थ जवान मुकेश गजभिये अपनी ड्यूटी नियमित तौर पर कर रहे हैं। जब से लॉकडाउन हुआ है, तभी से मुकेश ड्यूटी में तैनात जवानों के लिए घर पर खाना तैयार कराकर बांट रहे हैं। इस नेक काम में मुकेश की पत्नी सोनिया भी साथ दे रहीं हैं। वे खुद जरूरतमंदों के लिए खाना बना रही हैं।

पुलिस जवान मुकेश अपने वाहन से ही खाना और पानी पुलिस जवानों और जरूरतमंदों को वितरित कर रहे हैं। पुलिस महानिदेशक डीएम अवस्थी को जब गजभिये दंपति द्वारा किए जा रहे नेक कार्य के बारे में पता चला तो उन्होंने तुरंत वीडियो कॉल के जरिये उनसे बात की। अवस्थी ने मुकेश और उनकी पत्नी की प्रशंसा करते हुए कहा, "व्हाट्सएप के जरिये मुझे आपके सेवाभाव की जानकारी मिली। आपके द्वारा किए जा रहे कार्य पर मुझे गर्व है। 

छत्तीसगढ़ पुलिस के जवान इस समय दोहरी भूमिका निभा रहे हैं। एक तरफ वे लॉकडाउन का पालन कराने के लिए दिन-रात सड़कों पर तैनात हैं, वहीं दूसरी तरफ आपकी तरह जरूरतमंदों की मदद भी कर रहे हैं। अवस्थी ने उत्साहवर्धन के लिए तत्काल आरक्षक मुकेश गजभिये को 25 सौ रुपये का नगद इनाम देने की घोषणा की।