भागकर ससुराल में छिपे कोरोना संदिग्ध ने प्रशासन की फुलाई सांसें, पकडक़र किया गया जयपुर रैफर

कोरोना महामारी का सबसे संवेदनशील क्षेत्र बनते जा रहे जयपुर के रामगंज के पास सीतापुरी कर्बला इलाके से कोरोना संदिग्ध एक युवक के चोरी-छिपे भागकर शाहपुरा आने से प्रशासन सकते में है। उपखण्ड प्रशासन ने एहतियात बरतते हुए वार्ड के लोगों को 14 दिन तक पूरी तरह से घरों में क्वारेंटाइन रहने की सख्त हिदायत देते हुए पूरे वार्ड को सील कर सभी रास्तों पर पुलिसकर्मी तैनात दिए हैं।
साथ ही प्रशासन ने लकडी की बल्लियां गाढक़र वार्ड के सभी रास्तें को बंद कर दिया है। ताकि वार्ड में कोई भी व्यक्ति आवागमन नहीं कर सके। रामगंज निवासी युवक के शाहपुरा आने की खबर से कस्बे में गुरुवार को लोग सुरक्षा के लिहाज से पूरी तरह से घरों में कैद हो गए, जिससे सन्नाटा पसरा रहा। इधर, चिकित्सा विभाग की टीम ने युवक को संदिग्ध मानते हुए जांच कर गुरुवार को जयपुर रैफर कर दिया। हालांकि चिकित्सकों ने बताया कि जांच में अभी तक युवक स्वस्थ पाया गया है।

उल्लेखनीय है कि बीती रात को प्रशासन को रामगंज जयपुर से कोरोना संदिग्ध एक युवक के चोरी छिपे वार्ड संख्या 9 में छिपे होने की सूचना मिली थी। पुलिस व प्रशासन ने कस्बे के वार्ड संख्या 9 में छानबीन करते हुए एक मकान में दबिश देकर छिपे युवक को पकड़ा था।
चिकित्सकों की टीम ने पकड़े गए संदिग्ध युवक की स्क्रीनिंग कर आइसोलेट किया। सुबह जयपुर रैफर किया है। पुलिस ने बताया कि युवक सीतापुरी कर्बला जयपुर निवासी है। वह शुक्रवार को वार्ड संख्या 9 में अपने ससुराल में आ गया था।

इधर, पुलिस प्रशासन ने देवन गांव में भी हरमाड़ा में रहने वाले जांगीर नाम के व्यक्ति को पकड़ा है। चिकित्सकों की टीम ने स्क्रीनिंग कर उसे भी जयपुर रैफर कर दिया। वह 5-6 साल से जयपुर में मजदूरी कर रहा था। दो दिन पहले ही वह अपने गांव देवन आया था। उसके भी रामगंज निवासी होने की खबर फैलने से पुलिस ने तत्काल नाकेबंदी कर तलाशी शुरू की, जिस पर देर रात को वह देवन गांव में मिला। अभी तक जयपुर से दोनों की जांच रिपोर्ट नहीं आई है।
Loading...