लॉकडाउन में भी बिक रहा था मीट, बंद कराने पहुंचे लेखपाल काे जमकर पीटा गया, हाथ तोड़ा

कोरोना वायरस के प्रकोप के चलते लॉक डाउन किया गया है। लेकिन कुछ लोग सख्ती के बावजूद लॉक डाउन का पालन नहीं कर रहे हैं। बिथरी चैनपुर में बुधवार को मुर्गे का मीट बेचे जाने की शिकायत मिली। इस पर हल्का लेखपाल मामले की जांच करने के लिए मौके पर पहुंचे। उन्होंने मीट बेच रहे लोगों को ऐसा करने से रोका तो वे लेखपाल से भिड़ गए। आरोपित ने अपने चार-पांच साथियों के साथ मिलकर लेखपाल को जमकर पीटा। इस दौरान लेखपाल के एक हाथ की हड्डी टूट गई। बाद में ग्राम प्रधान की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और घायल लेखपाल को अस्पताल में भर्ती कराया। 
बिथरी चैनपुर के उड़ला जागीर के मझरा श्यामनगर गौटिया में राशन वितरण की जांच को पहुंचे लेखपाल ने फोटो खींचा तो भीड़ ने हमला कर दिया। उन्हें दौड़ाकर पीटा। हालत बिगड़ने पर उन्हें निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उनके हाथ की हड्डी टूट गई, कई जगह चोट हैं। उड़ला जागीर के लेखपाल राजीव कुमार वितरण प्रणाली की जांच के लिए बुधवार शाम चार बजे निकले थे। उन्हें गांव के कुछ लोगों ने बताया कि श्यामनगर गौटिया में मुर्गी व मुर्गा कटने की वजह भीड़ लगी है। वीडियो और फोटो खींचने की कोशिश की। 

आरोप है कि लोगों को लगा कि मीडिया का कोई व्यक्ति उनकी तस्वीरें ले रहा है। इसके बाद भीड़ ने उन्हें दौड़ा लिया। घेरकर पिटाई की। पिटाई के चलते हाथ की हड्डी भी टूट गई। उन्हें उपचार के लिए एक निजी चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है। पिटाई के दौरान दूसरे गांव के लोगों ने उन्हें बचाया। गांव के प्रधान ने पुलिस को खबर दी। पुलिस के पहुंचने के बाद उन्हें अस्पताल लाया गया। मौके पर पहुंचे एसडीएम सदर ईशान प्रताप सिंह ने स्थानीय लोगों से पूरे मामले की जानकारी भी ली। पुलिस ने गांव के कुछ महिला और पुरुष को शक के आधार पर हिरासत में लिया है। मुकदमा भी दर्ज कर लिया गया है।