"अंडे और बिरयानी नहीं मिलने पर तबलीगी जमात के लोगों ने कर दिया हंगामा"

दिल्ली की तबलीगी जमात के कार्यक्रम में हिस्सा लिए लोगों में से 13 को शुक्रवार को बिजनौर के जिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है। इंडोनेशिया के 8 नागरिकों सहित 13 लोगों ने अस्पताल में ना सिर्फ हंगामा बल्कि अंडे और बिरयानी की फरमाइश भी की। सीएमएस ज्ञानचंद ने बताया कि जिला अस्पताल के आइसोलेशन में रखे गए आठ इंडोनेशियाई और 5 भारतीय तबलीगी जमात सदस्यों ने सफाईकर्मी से बदतमीजी की और अंडा करी से साथ बिरयानी की मांग की। उन्होंने बताया कि इन लोगों की फरमाइश जब पूरी नहीं की गई तो उन्होंने हंगामा किया।
इस दौरान काफी देर तक अस्पताल में विवाद की स्थिति बनी रही। अधिकारियों ने इस बीच जिला प्रशासन को मामले की जानकारी दी, जिसके बाद हरकत में आकर डीएम रमाकांत पाडेय, एसपी संजीव त्यागी और मुख्य चिकित्सा अधिकारी विजय यादव अस्पताल पहुंचे। यहां अधिकारियों ने सभी से बातचीत की, जिसके बाद सभी को समझा-बुझाकर मामला शांत कराया गया। आपको बता दें कि अब विभिन्न जगहों पर इन जमात के लोगों द्वारा अस्पताल कर्मियों से बदतमीजी और दुर्व्यहार करने के मामले सामने आ रहे हैं। ताजा मामला कानपुर के गणेश शंकर विद्यार्थी मेमोरियल मेडिकल कॉलेज से सामने आया है जहां क्वारंटीन किए गए तबलीगी जमात के लोगों ने कथित रूप से चिकित्सा कर्मियों के साथ दुर्व्यवहार किया और वहां जगह-जगह पर थूक दिया गया। 

एएनआई को दिए बयान में गणेश शंकर विद्यार्थी मेमोरियल मेडिकल कॉलेज की डीन और प्रिंसिपल डॉ. आरती लालचंदानी ने बताया कि हमारे यहां 22 लोगों को दो दिन पहले क्वारंटीन किया गया था जो दिल्ली के मरकज़, निजामुद्दीन में आयोजित तब्लीगी जमात कार्यक्रम में शामिल हुए थे। हमारे डॉक्टर, कर्मचारी और नर्सों की टीम बारी-बारी से उनकी देखभाल कर रही थी। लेकिन ये लोग मेडिकल टीम के साथ दुर्व्यहार व्यवहार करने के साथ-साथ जगह-जगह थूक रहे हैं और हॉल में एक साथ उठना बैठ रहे हैं। बार-बार इन लोगों को ऐसा न करने का आग्रह किया जा रहा है।