लॉकडाउन में भी छलक गया इन पियक्कड़ों के सब्र का पैमाना और कर दिया ऐसा काम...

लॉकडाउन ने सबसे बड़ी समस्या पियक्कड़ों के लिए खड़ी कर दी। ऐसी हालत में केवल आवश्यक वस्तुओं की दुकानें खुल रही हैं। शराब इन आवश्यक वस्तुओं में बेशक शामिल नहीं हो किन्तु पीने वाले इसे पाने के लिए बैचेन हैं। जम्मू में पीने की इस बैचेनी के सब्र का पैमाना ऐसा छलका कि चोरों ने एक शराब की दुकान से लाखों की शराब उड़ा डाली। पुलिस इस बात की तहकीकात कर रही है कि चोरी की इस घटना को अंजाम शातिर चोरों ने दिया है या फिर शराब की दुकानें बंद होने के कारण पियक्कड़ों ने।
कोरोना वायरस के कारण सरकार ने 21 दिन के लिए लॉकडाउन किया है। लॉकडाउन में आवश्यक वस्तुओं राशन, दूध, फल, सब्जी की दुकानों और आवश्यक सेवाओं को छोड़कर अन्य सभी दुकानें और कार्यालय बंद हैं। ऐसे में शराब की दुकानें भी बंद चल रही हैं। इसको लेकर शराबियों ने शराब पीने के लिए अब शराब की दुकानों में चोरी करना शुरू कर दिया है। शहर के अम्बफल्ला इलाके में चोरो ने शराब की दुकान की दीवार तोड़ कर महंगी शराब की कई पेटियां उड़ा ली। चोरी कर कई बक्से उदा ले गए। 

दुकान में पीछे की तरफ से चोरो ने दीवार तोड़ कर इस वारदात को अंजाम दिया। घटना की जानकारी अगले दिन दोपहर तक किसी को नहीं था। जानकारी लगने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने मामला दर्ज कर तहकीकात शुरू कर दी है। आसपास लगे सीसीटीवी के फुटेज के सहारे पुलिस चोरों की पहचान कर उन्हें गिरफ्तार करने की कोशिश में है। सवाल केवल पियक्कड़ों पर ही नहीं पुलिस पर भी उठ रहे हैं। 

लॉकडाउन के कारण पुलिस ने शहर में करीब 100 नाके लगाए हैं, इसके बावजूद पक्का डंगा थाना क्षेत्र और रेहड़ी चौकी के पास रोड स्थित एक शराब दुकान में चोरी कैसे हो गई। वारदात को जिस तरह अंजाम दिया गया है, उससे भी यही लगता है कि चोरों ने शराब की पेटियां ले जाने में किस वाहन का इस्तेमाल किया है। इसके बावजूद कि लॉकडाउन में केवल आवश्यक सेवाओं के वाहनों को ही स्वीकृति दी जा रही है।