लॉकडाउन में बीमार पिता को ठेले पर लेकर अस्पताल पहुंचा बेटा, और फिर बोला...

कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए केंद्र सरकार द्वार पूरे देश में 3 मई तक लॉकडाउन (Lockdown) लागू किया गया है. इस दौरान आवश्यक सेवाओं को छोड़कर सभी चीजों पर प्रतिबंध है. वहीं, इस लॉकडाउन के दौरान तमाम लोगों को बहुत सी परेशानियों का भी सामना करना पड़ रहा है.
ऐेसा ही एक मामला सामने आया है झारखंड के गढ़वा से, जिसको जानकार शायद आप बहुत कुछ सोचने पर मजबूर हो जाएंगे. दरअसल, गढ़वा शहर में एक बेटा अपने बीमार पिता का इलाज कराने ठेला पर लेकर गया. जानकारी के मुताबिक, बेटे को अपने बीमार पिता को हॉस्पिटल ले जाने के लिए एंबुलेंस या गाड़ी नहीं मिली, तो वह ठेले पर लैटाकर इलाज कराने चल दिए. उपेंद्र पासवान शहर के सोनपुरवा निवासी हैं. 

इनके पिता को नाक से लगातार ब्लड आ रहा था, जिसके बाद इलाज को अस्पताल ले जाने के लिए गाड़ी नहीं मिली तो, वह ठेले पर ही पिता को बैठाकर एक निजी क्लिनिक पहुंच गए. उपेंद्र पासवान ने कहा कि कि गाड़ी लॉकडाउन में चल नहीं रही है और चल भी रही है तो ज्यादा पैसा मांग रहा है. ऐसे में हम क्या करें, इलाज कराने को पैसे है नहीं, तो किराया कहां से देंगे.