लॉकडाउन के दौरान प्रतिबंधित मांस का कारोबार, युवक पकड़ाया, बेचने जा रहा युवक पकड़ाया, दो अन्य हुए फरार

झारखंड के बोकारो जिला के बेरमो प्रखंड में गुरुवार (9 अप्रैल, 2020) को एक युवक को लोगों ने प्रतिबंधित मांस के साथ पकड़ा. सुबह 6 बजे जब ग्रामीणों ने झिरकी मुस्लिम टोला के रहने वाले अहमद रजा (17) को पकड़ा, वह अपने पिता और एक अन्य व्यक्ति के साथ मांस बेचने जा रहा था. बताया जाता है कि अहमद रजा को ग्रामीणों ने पकड़ लिया, तो उसका पिता अपने एक अन्य साथी के साथ बाइक से वहां से फरार हो गया. युवक ने बताया कि झिरकी गांव से निकलकर बाइक से अपने पिता इनाम अंसारी और एक अन्य व्यक्ति के साथ प्रतिबंधित मांस लेकर कथारा बस्ती यादव के रास्ते असनापानी गांव जा रहा था.
गांव के रास्ते गुजरने के क्रम में बाइक से काले बैग के अंदर हरे रंग की प्लास्टिक में भरा लगभग 20 किलो प्रतिबंधित मांस अचानक गिर गया. सुबह टहल रहे गांव के कुछ लोगों की उस पर नजर पड़ी. इसी दौरान लोगों को देखकर अहमद के पिता और उसका साथी वहां से भाग गया. जिस बाइक से दोनों लोग भागे, उस पर भी मांस लदा था. लोगों की भीड़ को देखने के बाद जब उसका पिता अपने साथी के साथ भागा, तो अहमद ने भी भागने की कोशिश की, लेकिन ग्रामीणों ने दौड़ाकर प्रतिबंधित मांस के साथ पकड़ लिया. इसकी सूचना स्थानीय कथारा ओपी पुलिस को दी गयी.

सूचना पाकर थाना प्रभारी युधिष्ठिर महतो, एएसआई केएन पाठक दल-बल के साथ कथारा बस्ती पहुंचे. उन्होंने इसकी सूचना गोमिया के पुलिस इंस्पेक्टर सुजीत कुमार एवं प्रतिनियुक्त दंडाधिकारी सह प्रखंड पशुपालन पदाधिकारी सुरेश कुमार को दी. सूचना मिलते ही दोनों अधिकारी थाना पहुंचे. वहां से घटनास्थल पर गये. इनकी उपस्थिति में युवक एवं प्रतिबंधित मांस को जब्त कर थाना लाया गया. पकड़े गये युवक ने बताया कि उसका पिता बुधवार को परसातांड बाजार से एक मवेशी खरीदकर लाया था. रात में इसे काटकर सुबह लगभग साढ़े पांच बजे बेचने के लिए वह पिता-पुत्र एक अन्य व्यक्ति के साथ असनापानी के लिए निकला. रास्ते में ही ग्रामीणों ने उसे पकड़ लिया.

इधर, थाना में उपस्थित प्रतिनियुक्ति दंडाधिकारी सुरेश कुमार ने बताया कि जब्त मांस को रांची स्थित निदेशक विधिक विज्ञान प्रयोगशाला भेजा जायेगा, ताकि यह पता चल सके कि यह मांस किस पशु का है. उधर, थाना प्रभारी ने बताया कि पकड़े गये युवक एवं उसके साथियों के खिलाफ मामले की जांच करेगी और उचित कानूनी कार्रवाई करेगी. उल्लेखनीय है कि कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए झारखंड समेत देश भर में लॉकडाउन है. इस दौरान मांसाहारी खाद्य पदार्थों (मछली, मांस आदि) की बिक्री पर पूर्ण प्रतिबंध है. गुरुवार (9 अप्रैल, 2020) को बोकारो जिला में कोरोना वायरस की वजह से झारखंड में पहली मौत हुई है. एक दिन में प्रदेश में कोरोना वायरस से संक्रमित 9 नये मामले सामने आये हैं, जिसमें 4 बोकारो के हैं.