इंदौर में नए इलाकों में फैल गया कोरोना, जिम्‍मेदारों की चिंता में हुआ है अब इजाफा!

कोरोना वायरस शहर में लगातार पैर पसारता जा रहा है। अंबिकापुरी, सुखलिया, गांधीनगर, मोती तबेला जैसे नए-नए क्षेत्र इसकी जद में आते जा रहे हैं। इसीलिए प्रशासन को भी अपनी सावधानी और निपटने के साधन बढ़ाने पड़ रहे हैं। शहर के एकदम नए इलाकों के अलावा वायरस बेटमा जैसे ग्रामीण और अर्धशहरी इलाके तक पहुंच चुका है।
ऐसे में माना जा रहा है कि अब तक रानीपुरा, दौलतगंज, चंदननगर और खजराना की सघन बस्तियों में उन्हीं परिवारों या उनके संपर्क में आने वाले रिश्तेदारों में घूम रहा कोरोना वायरस अब कम्युनिटी में फैल रहा है। नए इलाकों में कोरोना के पॉजिटिव मरीज मिलने से शुक्रवार को जिला प्रशासन ने 11 और कंटेन्मेंट जोन बनाए हैं। इस तरह शहर में कुल जमा 30 कंटेन्मेंट जोन बनाए जा चुके हैं, जहां घर-घर दस्तक देकर कोरोना वायरस की तलाश की जा रही है। प्रशासन ने तय किया है कि इन इलाकों को मार्कर से चिन्हित किया जाएगा। इसके बाद इन्हीं एरिया में सर्वे किया जाएगा। ऐसा इसलिए किया जाएगा कि कुछ इलाकों में इतनी सघन आबादी है कि वहां 3 किलोमीटर के दायरे में हर घर का सर्वे करने में काफी वक्त लगेगा।
इसलिए सर्वे में उन्हीं घरों को शामिल किया जाएगा, जो प्रभावित घर से नजदीकी रूप से जुड़े हैं। नए कंटेन्मेंट जोन के रूप में एरोड्रम रोड पर अंबिकापुरी कॉलोनी, गांधीनगर, मोतीतबेला, स्नेहलतागंज, उदापुरा, इकबाल कॉलोनी, चंदन नगर की गली नंबर-11, सुखलिया ए-सेक्टर, समाजवाद नगर, मेडिकल कॉलेज गर्ल्स हॉस्टल के अलावा बेटमा में सागौर कुटी रोड पर अल्सिफा मेडिकल स्टोर्स वाली गली को शामिल किया गया है। इस तरह देखा जाए तो कोरोना वायरस का फैलाव शहर से दूर बेटमा तक भी हो चुका है। कोराना वायरस का नए इलाकों में पाया जाना इस बात का संकेत है कि अब यह शहर के ही नए इलाकों में प्रवेश कर कम्युनिटी स्प्रेडिंग की तरफ बढ़ रहा है।