लॉकडाउन में विकलांग युवक ने महिला के साथ किया ऐसा दुस्साहस, लोग बनाते रह गए वीडियो!

उत्तर प्रदेश के कासगंज जिले में लॉकडाउन के दौरान सनसनीखेज वारदात हुई है। यहां घर के बाहर बैठी एक महिला को उसके पड़ोस में रहने वाले दिव्यांग युवक ने गोलियां मारकर हत्या कर दी। वारदात से पहले महिला गिड़गिड़ाती रही, लेकिन दिव्यांग ने उसकी एक नहीं सुनी। शर्मनाक बात यह है कि मोहल्ले के लोग छत से इस घटना का वीडियो बनाते रहे, लेकिन किसी ने महिला को बचाने की कोशिश नहीं की। घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद हड़कंप मच गया।
पुलिस और फॉरेंसिक विभाग की टीम मौके पर पहुंची और घटना स्थल का निरीक्षण किया। फॉरेंसिक विभाग की टीम ने मौके से साक्ष्यों को कब्जे में लेकर महिला के शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है। घटना के बाद पुलिस हत्यारोपी की तलाश में जुट गई है। बता दें कि आरोपित भाजयुमो जिलाध्‍यक्ष बृजेश उपाध्‍याय का साला बताया जा रहा है। जानकारी के मुताबिक, मामला कासगंज जिले के सोरों थाना क्षेत्र के होडलपुर गांव का है।
होडलपुर गांव में रहने वाली जामवती (62) पत्‍नी शिवशंकर अपने घर के बाहर बैठी हुई थी। तभी पड़ोस में रहने वाला दिव्‍यांग मोनू आया और तमंचा निकाल कर जामवती पर फायर कर दिया। मोनू का पहला फायर मिस हो गया। घबराकर जामवती घर के अंदर की ओर भागी। लेकिन उसका पैर फिसल गया और वो घर के बाहर ही गिर गई। तब तक मोनू ने दूसरा फायर कर दिया। ये फायर सीधा जामवती को जाकर लगा। फिर मोनू ने तमंचे में राउंड भरकर एक और गोली जामवती को मारी, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। आसपास के लोग कुछ समझ पाते तब तक आरोपित फरार हो गया।
घटना का पूरा लाइव वीडियो गांव के किसी व्‍यक्ति ने बनाकर सोशल मीडिया पर डाल दिया। सूचना पर एएसपी पवित्र मोहन मौके पर पहुंच गए। गांव के लोगों ने बताया कि महिला का पति शिवशंकर तीन वर्ष से गायब है। जामवती की कोई संतान भी नहीं थी। जिस मकान में जामवती रहती थी वो उसके पति ने ही खरीदा था। उसके अकेलेपन का फायदा उठाकर मोनू उसके मकान को खरीदना चाहता था। पूछताछ में पुलिस को पता चला कि आरोपित भाजयुमो जिलाध्‍यक्ष बृजेश उपाध्‍याय का साला है।
फरार आरोपित की तलाश में पुलिस ने पूरे गांव में फोर्स फैला दी है। जगह जगह दबिश दी जा रही है। दिव्‍यांग होने के कारण माना जा रहा है कि आरोपित अधिक दूर तक नहीं गया होगा। पुलिस को आरोपित के घर पर कार भी मिली है। लोगों ने बताया कि दिव्‍यांग होने के बावजूद वो तेजी से कार चलाता था।