खुद की औलाद नहीं होने पर बड़ी मां ने किया दुधमुंही बच्ची की टंकी में डूबा कर हत्या....

रायपुर के माना इलाके के टेमरी गांव में एक साल की दुधमुंही बच्ची की हत्या का खुलासा हो गया। बच्ची की हत्या उसकी ही बड़ी मां ने की थी। पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। आरोपी महिला की कोई संतान नहीं है। इस कारण उसे अपनी देवरानी से जलन होती थी। इसके चलते उसने बच्ची की हत्या कर दी।
मामले का खुलासा करते हुए पुलिस ने बताया कि 21 अप्रैल को टेमरी के मनोज साहू की एक साल की बेटी गीतांजली साहू सुबह करीब 11 बजे अचानक लापता हो गई। उसी मां नीलम साहू उस समय नहाने गई थी। वापस लौटी, तो बच्ची बिस्तर में नहीं थी। काफी खोजबीन करने के बाद बच्ची का शव छत में रखी पानी टंकी में मिला। प्रथम दृष्टया मामला हत्या का होने के कारण पुलिस ने अपराध दर्ज कर जांच शुरू कर दी।

मामले की जांच के दौरान खुलासा हुआ कि जिस दिन घटना हुई, उस समय घर में गीतांजली की मां नीलम साहू और उसके बड़े पिताजी अनुज साहू और उसकी पत्नी राजेश्वरी साहू के अलावा और कोई नहीं था। पुलिस ने दोनों से अलग-अलग पूछताछ की। राजेश्वरी बार-बार अपना बयान बदल रही थी। इससे पुलिस का शक और गहरा हो गया। पुलिस ने कड़ाई से पूछताछ की, तो उसने अपना अपराध स्वीकार करते हुए बच्ची की हत्या करने का खुलासा किया। 
घटना वाले दिन वह नहाने के बहाने नीलम के कमरे में गई। उस समय नीलम बाथरूम में नहा रही थी और बच्ची बिस्तर में सोई हुई थी। उसने बच्ची को उठाया और छत पर गई। इसके बाद सोई हुई बच्ची को पानी टंकी में डाल दिया। और बाहर से ढक्कन बंद कर दिया। इसके बाद अपने कमरे में आ गई। पानी टंकी में डूबने से कुछ ही देर में बच्ची की मौत हो गई। दूसरी ओर घर में सभी उसकी तलाश में लगे हुए थे।
माना सीएसपी अनुज की शादी राजेश्वरी से और मनोज की नीलम से करीब तीन साल पहले एक साथ हुई थी। शादी के कुछ समय बाद ही नीलम ने गीतांजली को जन्म दिया, जबकि राजेश्वरी की कोई संतान नहीं है। संतान प्राप्ति के लिए वह लगातार कई तरह के इलाज करवा रही है। इसके बावजूद बच्चा नहीं हो रहा है। कई बार झाडफ़ूंक और तंत्रमंत्र की मदद भी ले चुकी है। दूसरी ओर नीलम का संतान होने से उसे जलन होती थी। इसी जलन के चलते उसने दुधमुंही की हत्या कर दी। पुलिस ने आरोपी राजेश्वरी को जेल भेज दिया।