कोरोना वायरस से कांग्रेस नेता बदरुद्दीन शेख की हुई मौत, रविवार रात लिया आखिरी सांस

अहमदाबाद महानगर पालिका में विपक्ष के पू्र्व नेता व कांग्रेस के सीनियर लीडर बदरुद्दीन शेख Badruddin Sheikh का कोरोना वायरस से निधन हो गया है। वे 68 साल के थे। रविवार देर रात एसवीपी अस्पताल में अंतिम सांस ली। कोरोना वायरस की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद उनकी हालत नाजुक बनी हुई थी। वे पिछले कई दिनों से वेंटीलेटर पर थे। बदरुद्दीन शेख बेहरामपुरा से कांग्रेस का कोर्पोरेटर थे। गुजरात कांग्रेस के सीनियर लीडर व बेहरामपुरा कोर्पोरेटर भी थे। गुजरात कांग्रेस के विभिन्न पद्दों पर रहे चुके थे। वे मनपा में विपक्ष के नेता भी रह चुके थे।
गत 15 अप्रैल के दिन कोरोना की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद उन्‍‍‍‍‍हें एसवीपी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उसके दो दिन बाद से उनकी तबीयत खराब होने लगी और वे तब से वेंटीलेटर पर थे। उनके निधन से गुजरात कांग्रेस को बड़ा आघात पहुंचा है। गुजरात कांग्रेस प्रवक्ता जयराजसिंह ने बताया कि बदरुद्दीन शेख कांग्रेस के बड़े नेता थे उनके निधन से कांग्रेस को गुजरात में बड़ा धक्का लगा है। वहीं कांग्रेस के नेता शंक्तिसिंह गोहिल ने बदरुद्दीन शेख की मौत पर ट्वीट कर दुःख व्यक्त किया।

जानिए बदरुद्दीन शेख का जीवन परिचय
बदरुद्दीन शेख का जन्म 13 सितम्बर 1952 के दिन हुआ था। अहमदाबाद की एच.के आर्टस् कालेज में से उन्होंने ग्रेज्यूएशन किया था। वर्ष 1979-80 में गुजरात यूनिवसिर्टी के सेनेट मेम्बर रहे थे। गुजरात प्रदेश यूथ कांग्रेस के 1985-90 के वर्ष में जनरल सेक्रेटरी रहे थे। 2000 से 2003 तक अहमदाबाद महानगर पालिका में स्टेडिंग कमेटी के चेयरमैन रहे थे। वर्ष 2010 अहमदाबाद महानगर पालिका में विपक्ष के नेता रहे थे। अहमदाबाद मनपा में स्टेडिंग कमेटी के चेयरमैन रहे थे। गुजरात प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पूर्व प्रवक्ता रहे चुके हैंं। केन्द्र सरकार अंतर्गत ख्वाजा साहेब दरगाह कमेटी के अध्यक्ष रहे थे।