कोरोना से बचाव : गरीबों को अब फ्री में मास्क देगी सरकार, एपेडमिक एक्ट के तहत पहनना होगा जरूरी!

देश में 21 दिनों के लॉकडाउन के बाद भी कोरोना वायरस का संक्रमण बढ़ता जा रहा है। उत्‍तर प्रदेश में भी कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्‍या में लगातार इजाफा होता जा रहा है। आगरा में 25 नए मामले सामने आने के बाद यूपी में संक्रमितों लोगों की संख्‍या 200 तक पहुंच गई है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनि‍वार को राजधानी लखनऊ में आला अफसरों के साथ बैठक की। इस दौरान योगी ने कहा कि बिना मास्क के घर से बाहर निकलने की बिल्कुल अनुमति नहीं होगी। इसके लिए सरकार गरीबों को फ्री में खादी के मास्क उपलब्ध कराएगी।
योगी ने बैठक में कहा कि यदि लॉकडाउन समाप्त होता है तो एपेडमिक एक्ट के तहत सबको पहनना मास्क होगा। यूपी सरकार 23 करोड़ जनता के लिए 66 करोड़ खादी के ट्रिपल लेयर स्पेशल मास्क तैयार कराएगी। ये स्पेशल मास्क, ग़रीबों को फ्री में मिलेगा। इसके साथ अन्य नागरिकों को खादी मास्क बेहद सस्ते दाम में उपलब्ध होगा। खादी मास्क कपड़े का रीयूज वाला वाशेबुल मास्क होगा। इससे पहले शुक्रवार कोअपने सरकारी आवास पर टीम-11 की बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अगर 15 अप्रैल से लॉकडाउन खुलता है तो हालात बहुत चुनौतीपूर्ण होंगे। 

ऐसे में जो जहां फंसा होगा, वहां से आने का प्रयास करेगा। इन हालातों में सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन कराना बेहद चुनौतीपूर्ण होगा। इसके लिए अभी से कार्ययोजना तैयार करें। स्कूल, कॉलेज, अलग-अलग तरह के बाजार और मॉल कब और कैसे खुलेंगे इसकी कार्ययोजना तैयार करें। मुख्यमंत्री ने कहा कि हर जरूरतमंद तक समय से भोजन पहुंचाना सुनिश्चित करें। इसके लिए स्वयंसेवी संस्थाओं की भी मदद लें। संबंधित जिलों के डीएम से समन्वय कर आंगनबाड़ी का पौष्टिक आहार भी घर-घर तक पहुंचाएं।

Loading...