लॉकडाउन में पिता बनने की खुशखबरी मिलने के बाद भी नहीं पहुंच पाए घर, करते रहे लोगों की रक्षा!

कोरोना के जंग लड़ रहे लोगों में डॉक्टरों के साथ साथ पुलिस कर्मी भी एक हीरो की तरह दिन-रात हमारी जान बचाने में लगे हुए हैं। उत्तराखंड पुलिस भी हर एक कोने में तैनात है और लोगों की सुरक्षा के लिए रात दिन एक कर रही है।
ऐसे ही एक पुलिस वाले हैं नरेंद्र रावत जो पिता बनने की खुशखबरी मिलने के बाद भी दून के प्रेमनगर थाने में हैं और घर नहीं गए हैं।

ड्यूटी के प्रति समर्पित नरेंद्र रावत ने पारवारिक दायित्वों को वरीयता न देकर इस मुश्किल घड़ी में गरीब-जरूरतमंदों की सेवा करने की ठानी है और पत्नी व बच्चे की कुशलक्षेम फोन से ही पूछ लेते हैं। देवभूमि के ऐसे वीर सपूतों को दिल से सलाम करता है और ईश्वर से उनकी व परिवार की कुशलता की प्रार्थना करता है।