लॉकडाउन के समय BSF के जवान ने गोली मारकर अपनी जान दी...

मेरठ के भावनपुर थाना क्षेत्र के दतावली गांव निवासी 35 वर्षीय अजय सिंह उर्फ गजेंद्र पुत्र राजपाल सिंह श्रीनगर में बीएसएफ में सिपाही पद पर तैनात थे। होली के पर्व पर वह छुट्टंी लेकर घर आए थे। उन्हें 22 मार्च को वापस जाना था, लेकिन लॉकडाउन के कारण एयरपोर्ट से वापस भेज दिया गया। उनका पत्‍‌नी से तलाक का मामला चल रहा था। इसके बाद से अजय सिंह लिव इन रिलेशन में आरुषा निवासी बेहड़ा शाहदत (जानसठ) के साथ रहते थे। 
एसओ संजय कुमार ने बताया कि आरुषा और अजय सिंह रात करीब दस बजे बेडरूम में थे। आरुषा ने पुलिस को बताया कि कमरे से अजय बाहर निकले, तभी गोली चलने की आवाज आई, जब उसने बाहर निकलकर देखा तो बरामदे में अजय सिंह का खून से लथपथ शव पड़ा था। 

एसओ ने बताया कि कुछ दिन पहले अजय ने शराब के नशे में पिता की पिटाई कर दी थी। इसके बाद पिता अपने दूसरे बेटे के साथ मंगल पांडेय नगर में रहने लगे। उन्हें वापस लाने के लिए अजय ने काफी प्रयास किया, लेकिन पिता ने उनके साथ रहने से मना कर दिया। एसओ ने बताया कि मौके से मिली पिस्टल अवैध है। पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद शव स्वजनों को सौंप दिया।