लालू के पैरोल पर बाहर आने की उम्मीद पर फिर गया पानी, जेल IG बोले : गंभीर और आर्थिक अपराध में 7 साल से ज्यादा सजा वालों को पैरोल नहीं!

चारा घोटाले में रांची के होटवार जेल में बंद आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद के पैरोल पर बाहर आने की उम्मीद पर पानी फिर गया है। अब लालू प्रसाद को पैरोल नहीं मिलेगा। बैठक के बाद जेल आइजी शशिरंजन ने यह जानकारी दी है। आर्थिक आपराधिक और 7 साल से ज्यादा सजा वालों को पैरोल नहीं मिलने के प्रावधान का हवाला जेल आइजी शशिरंजन ने दिया है। इसपर संबंधित कोर्ट ही निर्णय ले सकता है। जेल आइजी ने कहा कि किसी खास नाम पर कोई चर्चा नहीं हुई। जेल आईजी शशिरंजन राज्य में पैरोल देने के लिए बनाई गई हाईलेवल कमेटी के सदस्य भी हैं।
जेल आईजी ने शशि रंजन बताया कि कोरोना महामारी के मद्देनजर जेलों में भीड़ देखते हुए सुप्रीम कोर्ट ने निर्देश दिया था कि 7 साल से कम सजा वाले कैदियों को पैरोल पर छोड़ा जाए। सुप्रीम कोर्ट के निर्देशानुसार इसपर विचार करने के लिए एक बैठक हुई जिसके बाद उन्होंने उन्होंने लालू प्रसाद को पेरौल से इनकार किया। 

साथ ही उन्होंने कहा की इस कमेटी में गृह सचिव सहित आईजी जेल भी सदस्य हैं। उन्होंने बताया कि वर्तमान में झारखंड में जेलों की क्षमता 14 हज़ार 114 है जिसमे वर्तमान में 18742 कैदी राह रहे हैं। इस कमेटी में अंडर ट्रायल कैदियों और सामान्य अपराध के आरोप में बंद कैदियों जिन्हें 7 साल से कम सजा हुई है उन्हें संबंधित कोर्ट पैरोल दे सकती है पर गंभीर अपराध और आर्थिक अपराध में सजा पाने वाले कैदियों को छोड़ कर। इसके लिए झालसा सचिव को नियुक्त किया गया है ।