पिता को साइकिल पर बैठाकर 1200 KM तय करने वाली ज्योति को सपा की तरफ से मिला ऐसा इनाम

समाजवादी पार्टी (सपा) ने लॉकडाउन के दौरान अपने घायल पिता को साइकिल पर बैठा कर दिल्ली से दरभंगा तक ले जाने वाली एक किशोरी को मंगलवार को एक लाख रुपये की सहायता दी। पार्टी के एक प्रवक्ता ने बताया कि सपा ने 15 वर्षीय ज्योति कुमार की मां फूलो देवी के बैंक खाते में मंगलवार को एक लाख रुपए भेजे हैं। उन्होंने बताया कि सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने गत 21 मई को ज्योति के जज्बे को सलाम करते हुए उसे यह सहायता देने का ऐलान किया था।
गौरतलब है कि साइकिल सपा का चुनाव निशान है। ज्योति की अपने पिता के साथ साइकिल पर दिल्ली से दरभंगा तक जाने की यह यात्रा पूरे देश ही नहीं बल्कि विदेश में भी चर्चा का विषय बनी थी। ज्योति हाल में दिल्ली से अपने पिता को साइकिल पर बैठा कर एक सप्ताह में लगभग 1200 किलोमीटर की दूरी तय कर बिहार के दरभंगा अपने घर पहुंची थी। 

ज्योति के पिता गुरुग्राम में रिक्शा चलाते थे और उनके दुर्घटना का शिकार होने के बाद वह अपनी मां और जीजा के साथ गुरुग्राम आई थी और फिर पिता की देखभाल के लिए वहीं रुक गई। इसी बीच कोविड-19 के कारण लॉकडाउन की घोषणा हो गई और ज्योति के पिता का काम ठप्प पड़ गया। ऐसे में ज्योति ने पिता के साथ साइकिल पर वापस गांव का सफर तय करने का फैसला किया।

भारतीय साइकिलिंग महासंघ (सीएफआई) के निदेशक वीएन सिंह ने ज्योति को ‘क्षमतावान’ करार देते हुए कहा कि महासंघ उसे ट्रायल का मौका देगा और अगर वह सीएफआई के मानकों पर थोड़ी भी खरी उतरती है तो उसे विशेष ट्रेनिंग और कोचिंग मुहैया कराई जाएगी।